expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : रेवाड़ी में संदिग्ध परिस्थितयो में श्रमिक की मौत हुई, मृतक के परिजनों ने रिश्तेदारों पर लगाया हत्या का आरोप



रेवाड़ी के तुर्कियावास गांव में एक श्रमिक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत का मामला सामने आया है। परिजनों का आरोप है कि जिस तरह सुंदरलाल के शरीर पर मारपीट करने से चोट के निशान मिले है उससे प्रतीत होता है उसकी हत्या की गई है। मारपीट का आरोप किसी और पर नहीं बल्कि अपने रिस्तेदारो पर ही लगाए है परिजनों ने आरोपियों की गिरफ़्तारी न होने तक शव का पोस्टमार्टम करवाने और शव उठाने से इंकार कर दिया है। फ़िलहाल इस पूरे मामले पर मीडिया के सामने पुलिस कुछ भी बोलने से बच रही है। परिजनों ने मरने से पहले वीडियो बनाकर मृतक के बयान लिए। जानकारी के अनुसार रेवाड़ी के तुर्कियावास गांव के रहने वाला 36 वर्षीय सुंदरलाल मेहनत मजदूरी का काम करता था उसकी बहन की शादी निकटवर्ती जैतपुर गांव में हुई थी। परिजनों का आरोप है कि ससुराल पक्ष के लोग अक्सर उसकी बहन को प्रताड़ित करते थे जिसको लेकर कई बार समझा बुझाकर मामला शांत करवा दिया जाता था। इसी का बदला लेने के लिए सुंदरलाल का बहनोई पवन 18 सितम्बर को सुंदरलाल को अपने साथ गाड़ी में बैठाकर ले गया। बताया जा रहा है कि इस दौरान बहनोई पवन कुमार और उसके पिता अमृतलाल, भाई धर्मपाल और एक अन्य व्यक्ति ने सुंदरलाल के साथ मारपीट की। जिस कारन गुम चोट लगने के कारण सुंदरलाल घायल हो गया जिसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया परिजनों का कहना है कि अस्पताल की ओर से एमएलआर भी नहीं काटी गई थी और पीजीआई रोहतक रेफेर कर दिया गया जिसके बाद परिजन उसे वापस रेवाड़ी ले आये और एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहाँ इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। परिजनों ने मरने से पहले सुंदरलाल के बयान की वीडियो बनाई थी इसमें वह अपने रिश्तेदारों पर मारपीट करने का आरोप लगा रहा है। एमएलआर नहीं काटे जाने की वजह से पुलिस भी आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने से बच रही है। फ़िलहाल परिजनों ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने तक शव लेने से मना कर दिया।

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें