expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : कोरोना से बचने के लिए रोग प्रतिरोधक काढ़ा सहायक : डीसी

रेवाड़ी, 22 अक्टूबर  कोरोना वैश्विक महामारी से बचाव के लिए सांझा प्रयास ही स्वास्थ्य सुधार की दिशा में अहम कदम है। रेवाड़ी जिला में स्वास्थ्य विभाग के साथ ही आयुष विभाग की ओर से दिए गए सुझावों की अनुपालना करते हुए आमजन कोरोना से रोग मुक्त रह सकते हैं। यह बात उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने कही। उन्होंने कहा कि जिला आयुर्वेदिक विभाग कोरोना संक्रमण से बचाव के मद्देनजर रोग प्रतिरोधक क्षमता की दवाओं का वितरण कर रहा है। कोरोना से बचाव के लिए रोग प्रतिरोधक काढ़ा स्वास्थ्य सुधार में सहयोगी है। आयुष विभाग द्वारा अब तक जिला में एक लाख 90 हजार  रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की किट वितरित की जा चुकी है। उपायुक्त ने बताया कि आयुष मंत्रालय द्वारा कोरोना से बचाव के लिए लोगों को आयुर्वेदिक काढ़ा पीने की सलाह दी जा रही है जिसके अनुसार दिन में कम से कम एक बार काढ़ा पीने से व्यक्ति काफी हद तक कोरोना वायरस के संक्रमण से बच सकता है। 

आयुष विभाग के निर्देशानुसार जिला आयुर्वेदिक अधिकारी डा. अजीत सिंह ने बताया कि कोरोना के बाद लोगों की जीवनशैली में बदलाव आया है। हर कोई अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने में जुटा है ताकि कोरोना के साथ-साथ अन्य बिमारियों से भी बचाव हो सके। इम्युनिटी बूस्टर के प्रति लोगों में तेजी से जागरूकता बढ़ी है। इससे कोरोना ही नहीं, कई बीमारियों को दूर किया जा सकता है। पहले जो लोग सुबह अपने दिन की शुरूआत कॉफी व चाय की चुस्की से करते थे, वह अब आयुर्वेदिक देसी काढ़ा लेते हुए स्वास्थ्य के प्रति सजगता बरत रहे हैं।

यह है काढ़ा तैयार करने की विधि: डा. अजीत सिंह

डा. अजीत ने बताया कि आयुष विभाग के तहत लोगों को घर पर ही काढ़ा बनाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है और उन्हें विधि भी बताई जा रही है। उन्होंने बताया कि एक कप काढ़ा बनाने के लिए एक कप पानी उबालते समय गुड मिला लें और पानी उबलने पर गैस बंद कर दें। एक ग्राम की मात्रा में क्वाथ द्रव्य डालकर ढककर रख दें। कुछ देर बाद छानकर पी लें। पीते समय इसमें नींबू का रस भी मिला सकते हैं। सेंधा नमक या काला नमक भी स्वादानुसार डाल सकते हैं। इस काढ़े को पीने से कोरोना समेत कई अन्य बीमारियों से आसानी से लडऩे में सक्षम हो जाएंगे।

काढ़ा बनाने में इन सामग्रियों का करें प्रयोग: 

उन्होंने बताया कि घर पर अपनी रसोई में भी काढा तैयार करते हुए रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित की जा सकती है। उन्होंने बताया कि खास बात यह है कि काढ़ा बनाने के लिए जरुरी वस्तुओं में से ज्यादातर चीजें हर घर की रसोई में आसानी से मिल जाती हैं। काढ़ा बनाने के लिए तुलसी के पत्तें, दालचीनी, काली मिर्च, सौंठ, गुड़, नींबू का प्रयोग किया जा सकता है।

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें