expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : रेलवे कर्मचारियों का एलान बोनस नहीं मिला तो 22 को देश भर में रेल का चक्का जाम

ग्राम समाचार न्यूज : रेवाड़ी : ल इंडिया रेलवे मैन्स फेडरेशन, नोर्थ वेस्ट रेलवे एम्पलोई यूनियन के आह्वान पर महामंत्री मुकेश माथुर, कार्यकारी अध्यक्ष अनिल व्यास व मण्डल सचिव जयपुर आर.के. सिंह के मार्गदर्शन में देवेन्द्र सिंह यादव (सहायक मण्डल मंत्री बीकानेर), वीरेंद्र यादव (शाखा अध्यक्ष) व यतेंद्र कुमार (शाखा सचिव) के नेतृत्व में 20/10/2020 मंगलवार को रेवाड़ी रेलवे स्टेशन पर प्रात: 10बजे व स्थानीय रेलवे चिकित्सालय रेलवे कॉलोनी रेवाड़ी पर प्रात: 11बजे बीकानेर व जयपुर मंडल के कर्मचारियों द्वारा बोनस दिवस को लेकर प्रदर्शन किया।

बोनस डे के अवसर पर भारत सरकार के बोनस के प्रति उदासीन रवैये को लेकर जबरदस्त आक्रोश दिखाया इसको लेकर बड़ी संख्या में रेल कर्मचारी रेवाड़ी स्टेशन पर प्लेटफार्म नम्बर 1 पर इक_ा हुये और रैली के रूप में जबरदस्त नारेबाजी करते हुए रेलवे हॉस्पिटल के आगे पहुंच कर सरकार के खिलाफ रोष प्रकट किया। इस मौके पर देवेन्द्र सिंह यादव (सहायक मण्डल मंत्री बीकानेर) ने साफ कर दिया। 
कि अगर अब संघर्ष के रास्ते पर आगे नही बढ़ा जाएगा तो भारतीय रेल का ही अस्तित्व खतरे में पड़ जाएगा, ऐसे में सरकार से आर पार की लड़ाई लडऩा ही एकमात्र रास्ता रह गया है, और ऑल इंडिया रेलवे मेंन्स फेडरेशन ने पर्याप्त समय सरकार को दिया, लेकिन सरकार इसे हमारी कमजोरी समझ रही है ! 
 संबोधित करते  हुए महामंत्री  ने साफ किया कि आज भारतीय रेल  और कर्मचारी कठिन  दौर से गुजर रहे हैं, इस समय जरूरी है कि हम  अपनी एकता को बनाए रखें और एक मजबूत  तथा निर्णायक संघर्ष के लिए पूरी तरह तैयार रहें। महामंत्री ने कहाकि एक तरफ रेलमंत्री खुद कहते हैं कि कर्मचारियों ने मेहनत से काम किया और कठिन  दौर में भी भारतीय  रेल ने 15 फीसदी अधिक माल की ढुलाई की, लेकिन जब बोनस का मसला आया तो सरकार  चुप्पी साधे हुए है ! आमतौर पर दुर्गा पूजा के काफी पहले रेलकर्मियों के बोनस का ऐलान हो जाता है,  पर लेकिन हर बात में रेल मंत्रालय का रटा रटाया जवाब की बोनस की फाइल वित्त मंत्रालय में लटकी हुई है , अब ये सब चलने वाला नही है ! 
महामंत्री ने कहाकि हमने सरकार की चुनौतियों को स्वीकार किया है,  किसी भी सूरत में सरकार की मनमानी नहीं चलने देंगे। अगर बोनस पर  कुछ घंटों में फैसला नही होता है , 20 अक्टूबर को " देश भर में बोनस डे " के बाद सीधे कार्रवाई शुरू हो जाएगा ! बोनस डे पर देश भर में धरना, प्रदर्शन, रैली कर सरकार को चेतावनी दी जाएगी ! महामंत्री ने कहाकि सरकार को पहले ही साफ  कर दिया है कि बोनस के मामले में रेलकर्मचारी लंबा इंतजार करने को तैयार नहीं है, फैडरेशन की स्टैडिंग कमेटी में भी सरकार के रवैये पर सख्त एतराज जताया गया है, रेल कर्मचारी आर पार करने को तैयार बैठे हैं। 
महामंत्री ने कहाकि  एक्ट अप्रेंटिस के मामले में भी बोर्ड को बताया गया है कि इन्हें नौकरी देने में अब किसी तरह की रुकावट नहीं  है, इस पर भी तत्काल फैसला लिया जाना चाहिए। मिश्रा ने सरकार को याद दिलाया कि कोरोना के समय जब देश में लाँकडाउन था,  लोग घरों में बंद थे, उस समय भी 10.50 लाख रेल कर्मचारी रोजाना काम कर रहे थे। प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाने में जब राज्य सरकारें  फेल  हो गई,  तो रेलकर्मियों ने जान की परवाह किए बगैर 65 लाख  से ज्यादा प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाया। जब सरकार को रेलकर्मचारियों की प्रशंसा करनी चाहिए तब सरकार ने डीए फ्रीज कर दिया। इस समय रोजाना ही एक एक करके  मजदूर विरोधी आदेश जारी किए जा रहे हैं। 109 महत्वपूर्ण रुट पर लगभग 150 ट्रेनों  का संचालन प्राईवेट पार्टनर को देने का ऐलान कर दिया गया। इतना ही नहीं उत्पादन इकाइयों के निगमीकरण की साजिश की जा रही है। अब ये सब कर्मचारी बर्दास्त करने वाले नहीं  है और निर्णायक संघर्ष को तैयार हैं।  महामंत्री ने मंडल के कार्यों की एकबार फिर सराहना करते हुए कहाकि इस मंडल के कार्यकर्ता जुझारू है और हमेशा हर काम मे अव्वल रहते है ! बोनस की घोषणा अति शीघ्र करने एवं निजीकरण के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान भूपसिंह, यातायात निरीक्षक सत्यवान लांबा, जितेंद्र यादव, प्रमोद सैनी, राजेश यादव, रमेश, अमित यादव, रामचंद्र, नरपत मीणा, अमित इंदौरिया, भीम सिंह, तेजपाल, राकेश मीणा, मोतीलाल सैनी, अविनाश, सुभाष कनसेरा, परसादी लाल मीणा, राजपाल, महेश कुमार, पूरणमल, हनुमान सिंह, धर्मपाल यादव, नेकवर्धन, महेन्द्र शर्मा, समस्त लोको पायलट एवं गार्ड तथा ट्रैफिक एवं वाणिज्य  तथा अन्य रेल कर्मचारी आदि मौजूद रहे। 
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें