expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : तीनों मंडियों में अब तक 1285.95 मीट्रिक टन बाजरे की हुई खरीद : उपायुक्त यशेन्द्र सिंह

रेवाड़ी, 6 अक्तूबर। जिला में खरीफ फसल की खरीद प्रक्रिया लगातार जारी है। जिले की तीनों अनाज मडियों में खरीफ फसल की खरीद प्रक्रिया के अन्तर्गत गत सायं तक 1285.95 मीट्रिक टन से बाजरे की हुई खरीद सरकारी समर्थन मूल्य पर कि जा चुकी है ।

 उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने यह जानकारी देते हुए बताया कि तीनों अनाज मंडियों में सुचारू रूप से खरीद हो इसके लिए सभी व्यवस्थाओं के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। किसानों को अपनी फसल बेचने में किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं आने दी जाएगी, इस संबंध में संबंधित अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए जा चुके हैं।

 उन्होंने बताया कि अब तक जिला में 454 किसानों कि बाजरे की 1285.95 मीट्रिक टन की खरीद की जा चुकी  है। उन्होंने बताया कि रेवाड़ी अनाज मण्डी में हैफड द्वारा गत दिवस तक 193 किसानों का 525.1 मीट्रिक टन बाजरे की खरीद की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि एचएसडब्ल्यूसी द्वारा बावल अनाज मण्डी में गत सायं तक 44  किसानों का 128.35  मीट्रिक टन बाजरे की खरीद की जा चुकी  है तथा इसी प्रकार से एचएसडब्ल्यूसी द्वारा कोसली अनाज मण्डी में गत सायं तक 217  किसानों की 632.5 मीट्रिक टन बाजरे की खरीद की जा चुकी  है।

उपायुक्त ने बताया कि सभी खरीद केंद्रों पर किसानों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं व प्रबंध किए गए हैं। स्वच्छ पेयजल, शौचालय, साफ-सफाई, फसल लाने की लिए सुगम आवगमन आदि की पुख्ता व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि किसानों को उनकी फसल बेचने के लिए कोई दिक्कत नहीं आने दी जाएगी। पोर्टल पर पंजीकृत सभी किसानों की फसल का एक-एक दाना खरीदा जाएगा।

उन्होंने बताया कि फसल खरीद के लिए एचडब्ल्यूसी, हैफेड ऐजेंसियों को अधिकृत किया गया है। उन्होंने बताया कि अधिकारियों को ऐजेंसियों के साथ आपसी तालमेल के साथ खरीद प्रक्रिया को सुचारू रूप से करने के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं, ताकि किसानों को अपनी फसल बेचने में किसी प्रकार की दिक्कत न आए।

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें