expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Bounsi News: सीएसपी संचालक को गोली मारी, 2 लाख 80 हजार भी लूटे

 ग्राम समाचार, बौंसी,बांका। प्रखंड के काजी कैरी गांव निवासी अतुल प्रसाद मिश्रा के पुत्र राजीव कुमार मिश्रा गुरुवार शाम करीब 5:00 बजे बौसी एसबीआई बैंक से ₹280000 लेकर बौंसी से अपने गांव काजी कैरी जा रहा था। जहां कि वह अपने ही गांव में रहकर सीएसपी का संचालन का कार्य किया करते थे। गांव पहुंचने से 200 मीटर पहले पुल के पास पहले से ही घात लगा कर बैठे दो मोटरसाइकिल में पांच अपराधियों ने राजीव कुमार मिश्रा के ऊपर हमला बोल दिया और रुपए का बैग छीनने लगा। राजीव कुमार मिश्रा के द्वारा विरोध करने पर अपराधियों ने राजीव कुमार मिश्रा के सीने में गोली मार दिया और ₹280000 लेकर अपराधी फरार हो गया। 



वही बगल में गांव का ही एक व्यक्ति खेत में काम कर रहा था। जिसने गोली की आवाज सुनने के बाद दौड़ कर घटनास्थल पर पहुंचा तो राजीव कुमार मिश्रा को घायल अवस्था में वहां गिरा पड़ा मिला। उसने ग्रामीणों को सूचना दिया तब जाकर उसके घर वालों ने आकर जख्मी हालत में राजीव कुमार मिश्रा को रेफरल अस्पताल बौसी लाया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टर सरफराज आलम ने बेहतर इलाज के लिए राजीव कुमार मिश्रा को मायागंज भागलपुर रेफर कर दिया। ज्ञात हो कि बौसी प्रखंड क्षेत्र में इस तरह के लूट की यह पहली घटना नहीं है। यहां आए दिन जगह-जगह सीएसपी संचालकों को अपराधियों के द्वारा निशाना बनाया जाता रहा है। इस पर स्थानीय प्रशासन लगाम लगाने में लगभग नाकाम ही रही है। समाचार लिखे जाने तक किसी भी अपराधियों का कोई सुराग नहीं मिल पाया है। स्थानीय पुलिस प्रशासन के द्वारा छानबीन जारी है। इस अभियान में जिले से वरीय पुलिस पदाधिकारी भी देर रात तक छानबीन में लगे हुए थे। जिसमें डीएसपी डीसी श्रीवास्तव, बौंसी पुलिस निरीक्षक गोपाल सिंह, बौंसी थाना प्रभारी और बौंसी के पूर्व थाना अध्यक्ष राजेश कुमार यादव भी इस अभियान में शामिल थे।

मदन कुमार झा, प्रखंड संवाददाता, ग्राम समाचार, बौंसी

Share on Google Plus

Editor - सुनील कुमार

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें