expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Bounsi News:दो अलग अलग मामलों में देशी-विदेशी शराब और वाहन जप्त

  ग्राम समाचार,बौसी,बांका।

जब से राजेश कुमार यादव ने बौंसी थानाध्यक्ष की कमान संभाली हैं,तब से शराब माफियाओं की शामत आ गई है।रोज कहीं ना कहीं शराब की बड़ी खेप और तस्कर की गिरफ्तारी हो रही हैं। बौंसी थाना की पुलिस के द्वारा दो अलग-अलग जगहों से देशी तथा विदेशी शराब के साथ एक मोटरसाइकिल और एक बोलेरो को शुक्रवार को जप्त किया गया है। हालांकि इस घटना के दौरान  शराब तस्कर भागने में पूरी तरह सफल रहे। 


मिली जानकारी के अनुसार बौंसी थानाध्यक्ष राजेश कुमार यादव के निर्देश पर एस0आई0 सच्चिदानंद दुबे के द्वारा विशेष अभियान चलाकर बिशनपुर मोड़ के पास मोटरसाइकिल से देशी शराब ले जा रहे शराब तस्कर का पीछा किया गया, लेकिन शराब तस्कर ने देखा कि पुलिस उसका पीछा कर रही हैं तो शराब तस्कर वाहन छोड़कर फरार हो गया। जप्त पैशन प्रो वाहन से तलाशी के दौरान 300 एमएल की 196 पीस देशी शराब बरामद की गई । वहीं दूसरी ओर पुलिस को गुप्त सूचना मिली कि सफेद बोलोरो से शराब तस्करी के लिए लाई जा रही हैं। इसी गुप्त सूचना के आधार पर एस0आई0 सुधीर सिंह के द्वारा सफेद बोलेरो का बौसी–हँसडीहा मुख्य मार्ग  पर पीछा किया गया। ये लोग झारखंड से शराब लेकर आ रहे थे। शराब तस्कर पुलिस को चकमा देकर वाहन को लेकर भागने के  चक्कर में थे,परंतु भागने के इस आँख-मिचौली के क्रम में बोलोरो सुखनियाँ पुल के सूजापुर गांव पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया। दुर्घटना के तुरंत बाद शराब तस्कर और चालक भागने में सफल रहे। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जप्त वाहन से 8 बोतल विदेशी शराब बरामद की गई। बताया जाता है कि इस बोलोरो गाड़ी में शराब की बड़ी खेप थी,जिसे ग्रामीणों द्वारा लूट लिया गया है। हालांकि पुलिस इस मामले की छानबीन कर रही है। साथ ही दोनों देशी और विदेशी शराब के मामले में उत्पाद अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है।

मदन कुमार झा, प्रखंड संवाददाता, ग्राम समाचार, बौंसी

Share on Google Plus

Editor - सुनील कुमार

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें