Bhagalpur News:शिक्षकों का राज्यव्यापी अनिश्चितकालीन हड़ताल चौथे दिन भी जारी, सभी विद्यालयों में लटके रहे ताले

ग्राम समाचार, भागलपुर। बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर सभी कोटि के नियोजित शिक्षकों ने हड़ताल के चौथे दिन सन्हौला प्रखंड के बीआरसी प्रांगण में धरना दिया। धरना स्थल पर सभा की अध्यक्षता प्रखंड उपसंयोजक उदय सिंह ने किया। आज हड़ताल के चौथे दिन सन्हौला प्रखंड के बीआरसी भवन परिसर तारड कालेज तारड भागलपुर के प्रिन्सिपल प्रदीप कुमार सिंह पहुंचे और सभी नियोजित शिक्षकों को साथ देने की बात करते हुए कहा कि सरकार की दोहरी नीति के कारण सभी शिक्षक परेशान हैं। सरकार को जल्द से जल्द शिक्षकों की गंभीरता को संज्ञान में लेकर सकारात्मक पहल करनी चाहिए। विनय कुमार विमल ने कहा कि जब तक सरकार हमारी मांगे पूरी नहीं करती है, तब तक हम सभी शिक्षक चट्टानी एकता का परिचय देते हुए बीआरसी के प्रांगण में धरना देंगे और प्रखंड के सभी विद्यालयों में ताले लटके रहेंगे। शेख इरफान ने कहा कि शिक्षा मंत्री और मुख्यमंत्री को बिहार के सरकारी विद्यालयों में पढ़ रहे गरीब बच्चों की कोई परवाह नहीं है। लगातार चौथे दिन विद्यालय बंद है, लेकिन अभी तक सरकार द्वारा कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाया जाना सरकार की शिक्षा के प्रति उदासीनता प्रकट करती है। धरना स्थल पर ललन कुमार, पवन कुमार, अनिल पासवान, ओम प्रकाश शर्मा, धर्मेंद्र कुमार, अजीत कुमार, गुंजन कुमार आदि के साथ सैकड़ों की संख्या में शिक्षक मौजूद थे। उधर गोराडीह में अपनी मांगों के समर्थन में राज्यव्यापी हड़ताल को सफल बनाने हेतु आज 20 फरवरी को सभी शिक्षक/शिक्षिका प्रखंड संसाधन केंद्र गोराडीह में उपस्थित हुए। आज के कार्यक्रम की सभा का संचालन बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ (मूल) प्रखंड इकाई गोराडीह के उपाध्यक्ष अजय कुमार सिंह ने की तथा अध्यक्षता  नुरूल इस्लाम ने की। सभी ससंगठकर्ता ने हड़ताल को सफल बनाने के लिए अपनी बातों को रखा और उपस्थित सभी शिक्षकों को धन्यवाद दिया। साथ ही हड़ताल को लोकतांत्रिक तरीके से मांगे पूरी होने तक जारी रखने का निवेदन किया। आज के कार्यक्रम में राष्ट्रीय जनता दल के जिला अध्यक्ष चंद्रशेखर यादव ने भी अपने विचार रखे तथा सरकार से निवेदन किया कि शिक्षकों की मांगों को माननी चाहिए। इसके अलावा ताड़र महाविद्यालय ताड़र के प्राचार्य डॉ प्रदीप कुमार सिंह भी शामिल हुए। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि सरकार को शिक्षकों की मांगों पर विचार करनी चाहिए और शिक्षक के हित में काम करनी चाहिए। इस मौके पर हेमंत कुमार, बिहारी प्रसाद, राणा सुजीत कुमार विद्यार्थी, उदय कुमार भारती, प्रवेज अख्तर, आमिर सिद्दकी, कुलदीप प्रसाद सिंह, दिलीप कुमार, माधुरी कुमारी, लता कुमारी, मुकेश कुमार, नंद किशोर भारती, देवेंद्र मंडल, विक्रम कुमार सिंह, कमल किशोर, पंकज कुमार विद्यार्थी, अभय कुमार, सुमन, सोनी कुमारी, अजीत, रामकृष्ण दास, मुनीलाल सिंह, विनोद कुमार शर्मा, परमानंद यादव, ब्रजकिशोर सिंह, विद्यानंद, नीतू कुमारी, जवाहरलाल, हिमांशु के अलावा सैकड़ों शिक्षक उपस्थित थे।
Share on Google Plus

About Bijay shankar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment