Jamshedpur News: ओल चिकि लिपि में संताली पाठ्य पुस्तकें प्रकाशित हो: संताल छात्र संघ

 

ग्राम समाचार संवाददाता, जमशेदपुर: 23 जनवरी सोमवार को घाटशिला धरमबहाल पंचायत भवन में मानिक हांसदा के अध्यक्षता में अखिल भारतीय संताली लेखक संघ, झारखंड आसेका, मांझी पारगाना महाल और अखिल झारखण्ड संताल छात्र संगठन का संयुक्त बैठक का आयोजन किया गया. मांझी पारगाना महाल के पंचानन सोरेन ने कहा की पश्चिम बंगाल सरकार ने प्राथमिक स्तर से विश्व विद्यालय तक संताली पाठ्य पुस्तकों का ओल चिकि लिपि में प्रकाशन कर संताली माध्यम से पठन-पाठन कार्य जारी है. उड़िसा सरकार भी संताली भाषा के लिए संताली लिपि ओल चिकि को ही बढ़ावा दिया जा रहा है. परंतु आदिवासी बहुल राज्य झारखंड में संताली भाषा के विकास में कोई अभिरुचि नहीं दिया जा रहा है. वर्तमान में जेसीईआरटी द्वारा संताली समेत पांच जनजातीय भाषाओं में कक्षा तीन से पांच तक के गणित और पर्यावरण अध्ययन का अनुवाद कार्य जारी है. इस अनुवाद कार्य में अन्य भाषाओं के साथ-साथ संताली भाषा पाठ्य पुस्तकों के लिए देवनागरी लिपि का प्रयोग करने का आदेश दिया गया है.इस संदर्भ में आज का बैठक में निर्णय लिया गया कि संताली भाषा के पाठ्य पुस्तकों का प्रकाशन के लिए ओल चिकि लिपि ही उपयोग किया जाए. इससे संबंधित मांग पत्र जेसीईआरटी के निर्देशक को बहुत जल्द सोंपा जाएगा. हमारी मांगे नहीं माने जाने पर संताल समाज आंदोलन करने को बाध्य हो होगा.
      जितेंद्र नाथ हेंब्रम ने कहा पूर्वी सिंहभूम जिले में संविदा के आधार पर पीजीटी एवं टीजीटी शिक्षकों की बहाली की प्रक्रिया में संताली भाषा के लिए एक भी पद सृजित नहीं किया गया है. जबकि उल्लेखित सभी उच्च विद्यालय में संताली भाषा के छात्र-छात्राएं अध्ययनरत है. इस बहाली प्रक्रिया में संताली भाषा के लिए भी पद सृजन कर शामिल किया जाए। नहीं तो इसके लिए विशाल आंदोलन किया जाएगा.
 बैठक में पितम सोरेन, धारमा मुर्मू, सुकु हेम्ब्रम, सुधीर चन्द्र मुर्मू, नयन मुर्मू, भुजंग टूडु, रजनी कांत माण्डी, सुभाष चन्द्र माण्डी, मोहन चंद्र बास्के, जितेन्द्र नाथ हेम्ब्रम, मानिक हांसदा, बुद्धेश्वर बास्के, पंचानन सोरेन, शंकर सोरेन आदि ने अपना अपना विचार और सहमति प्रदान किया गया. बैठक में विभिन्न संगठन और संताल समाज के प्रमुखों ने हिस्सा लिया. बैठक का संचालन भुजंग टूडु ने किया तथा शंकर सोरेन ने धन्यवाद ज्ञापन किया.

 कालीदास मुर्मू, जमशेदपुर।

Share on Google Plus

Editor - कालीदास मुर्मू , जमशेदपुर

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education