Godda News: समस्याओं के उलझन से निकाल कर राज्य को दे रहे हैं विकास की गति- हेमंत सोरेन



ग्राम समाचार, गोड्डा ब्यूरो रिपोर्ट:-  आज दिनांक 20.09.2022 को बोआरीजोर प्रखंड के अंतर्गत डुमरिया पंचायत के फुटबॉल मैदान में विकास मेला सह जनता दरवार की शुरुआत मुख्यमंत्री झारखंड सरकार हेमन्त सोरेन, सांसद राजमहल लोकसभा क्षेत्र बिजय हांसदा, विधायक महागामा विधानसभा क्षेत्र दीपिका पाण्डेय सिंह, उपायुक्त  जिशान कमर, पुलिस अधीक्षक  नाथू सिंह मीना मुख्यमंत्री के प्रेस सलाहकार अभिषेक श्रीवास्तव, जिला परिषद अध्यक्ष बेबी देवी, जिला परिषद उपाध्यक्ष अणु देवी सहित अन्य गणमान्य के द्वारा दीप प्रज्वलित कर की गई। सर्वप्रथम कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले 2 वर्षों तक कोरोना से जंग होती रही और इसमें हमने कामयाबी हासिल की। अब कम बारिश से सुखाड़ जैसे हालात पैदा हो रहे हैं। ऐसे में सुखाड़ से जंग की तैयारी भी सरकार ने शुरू कर दी है। सूखे की वजह से किसानों- मजदूरों का पलायन नहीं हो, उन्हें अपने ही घर में रोजगार मिले, इसके लिए सरकार कई योजनाएं बना रही है। हम ऐसे हालात से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार हैं और कोरोना की तरह ही सुखाड़ पर भी जीत हासिल करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य की बड़ी आबादी गांवों में रहती है। ऐसे में ग्रामीण अर्थव्यवस्था को हम मजबूती देने का काम कर रहे हैं। सरकार की ज्यादातर योजनाएं ग्रामीणों के हित को ध्यान में रखकर बनाई गई है। इस सिलसिले में सरकारी अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश है कि अगर कोई व्यक्ति योजना का लाभ लेने के लिए आए तो उस पर सहानुभूति और संजीदगी दिखाते हुए उसे योजना का लाभ दें , ताकि हमारी व्यवस्था पर लोगों का विश्वास और मजबूत हो। इस सिलसिले में जो भी अधिकारी लापरवाही बरतेंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि अलग राज्य बनने के बाद भी झारखंड की गिनती पिछड़े राज्य में होती है। इसकी वजह पिछले 20 सालों के दौरान यहां की व्याप्त समस्याएं हैं। पूर्ववर्ती सरकारों द्वारा विकास को हाशिए पर छोड़ना है ।लेकिन, हमारी सरकार कई योजनाओं को तेजी से लागू करने का काम कर रही है। हम एक ऐसी कार्य योजना बना रहे हैं, जिसके माध्यम से यहां के लोगों को मान सम्मान के साथ उनको उनका हक भी मिले और राज्य में विकास की धार तेज हो सके| मुख्यमंत्री ने कहा की सरकार राज्य और राज्यवासियों के हित में लगातार कई अहम निर्णय ले रही है। हमारी सरकार ने सरकारी कर्मचारियों की वर्षों से लंबित मांग पुरानी पेंशन योजना को फिर से लागू करने का निर्णय लिया है। वही पुलिसकर्मियों के क्षतिपूर्ति अवकाश की मांग पर भी सहमति दे दी गयी है। आंगनबाड़ी सेविका,- सहायिका के लिए सेवा शर्त नियमावली बनाने की मांग पूरी कर ली गई है। राज्य मंत्रिमंडल ने 1932 खतियान आधारित स्थानीय नीति और ओबीसी को 27 प्रतिशत आरक्षण देने का भी निर्णय ले चुकी है। हमारी सरकार सभी की मांगों पर सहानुभूति पूर्वक विचार करते हुए उसका समाधान निकालने का प्रयास कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीबों और जरूरतमंदों की फिक्र सरकार को है। ऐसे में अधिकांश योजनाएं उनके हित को ध्यान में रखकर बनाई जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सभी बुजुर्ग, विधवा, दिव्यांग, परित्यक्ता और एकल महिला को पेंशन देंगे सुनिश्चित कर रहे हैं। गरीबों को 10 रुपए में धोती-साड़ी-लूंगी दिया जा रहा है। इसके अलावा नए ग्रीन राशन कार्ड जारी किए जा रहे हैं, ताकि गरीबों को अनाज दे सके। इसके अलावा भी कई ऐसी योजनाएं हैं जिसके माध्यम से गरीब जरूरतमंदों को राहत देने का काम हो रहा है। रोजगार और नियुक्ति के संदर्भ में मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में रोजगार और स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए सरकार गंभीर है । बहुत जल्द 50 हज़ार शिक्षकों के पद पर बहाली प्रक्रिया शुरू होने जा रही है ।जेपीएससी और जेएसएससी के माध्यम से विभिन्न विभागों में खाली पड़े पदों को भरने के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी गई है । जबकि, मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना के तहत स्वरोजगार के लिए सरकार अनुदान आधारित लोन दे रही है। युवा वर्ग इसका लाभ उठाएं और खुद के साथ दूसरों को भी रोजगार दें। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर 2734. 54 लाख रुपए की लागत से 15 योजनाओं का उद्घाटन किया। वहीं 40 योजनाओं की आधारशिला रखी । इन योजनाओं पर 18020.05 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। साथ ही मुख्यमंत्री ने 5625 लाभुकों के बीच 2701.65 लाख रुपये की परिसंपत्तियों का वितरण किया। इसके अंतर्गत 3560 सखी मंडलों को सामुदायिक निवेश निधि के तहत 178.5 लाख रुपया का चेक सौंपा गया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने 18 नव चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र प्रदान किया। इनमें विशेषज्ञ चिकित्सक समेत अन्य अभ्यर्थी शामिल हैं। इसके अलावा उन्होंने लाभुकों को प्रधानी पट्टा भी प्रदान किया। मुख्यमंत्री ने लाभुकों के बीच परिसंपत्ति वितरण के अंतर्गत प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण और डॉ भीमराव आंबेडकर आवास योजना के तहत 521 लाभुकों को आवास का स्वीकृति पत्र सौंपा। इन दोनों योजनाओं के कई लाभुकों का गृह प्रवेश भी कराया गया। कार्यक्रम में उपायुक्त गोड्डा जिशान कमर के द्वारा संबोधित करते हुए जिले में चलाए जा रहे योजनाओं की जानकारी प्रदान करते हुए जिले की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला गया। कार्यक्रम का संचालन कार्यपालक दंडाधिकारी गोड्डा जेसी विनीता केरकेट्टा, के द्वारा किया गया। कार्यक्रमो में जिला परिषद अध्यक्ष बेबी देवी, उप विकास आयुक्त संजय सिन्हा, जिला परिषद उपाध्यक्ष श्रीमती अणु देवी ,अनुमंडल पदाधिकारी गोड्डा ऋतुराज, अनुमंडल पदाधिकारी महागामा सौरव कुमार भुवानिया, जिला नजारत उपसमाहर्ता नागेश्वर प्रसाद साव, कार्यपालक दंडाधिकारी गोड्डा मनोज कुमार ,जिला जनसंपर्क पदाधिकारी अविनाश कुमार सहित  जिला प्रशासन से अन्य पदाधिकारीगण एवं लाभुक उपस्थित थे।


Share on Google Plus

Editor - भूपेन्द्र कुमार चौबे

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education