Rewari News : जनहित के मुद्दों की बजाए अपनी राजनीति चमकाने में लगे नेता : धर्मेंद्र बैरियावास

ग्राम समाचार न्यूज : रेवाड़ी : राष्ट्रीय नवचेतना मंच के जिला प्रमुख धर्मेंद्र बैरियावास ने प्रेस नोट जारी कर कहा कि अहीरवाल का लंदन कहे जाने वाले रेवाड़ी शहर में आज कुछ नेता गुटबाजी का शिकार हो रहे हैं आज का माहौल ऐसा बना हुआ है कि एक दूसरे की कमी निकालने में लगे हुए हैं कोई भी जनप्रतिनिधि शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य की बात नहीं कर रहा है आज तक सैनिक स्कूल पाली, मेडिकल कॉलेज श्योराज माजरा का निर्माण नहीं हुआ है भाजपा व जजपा गठबंधन सरकार ने 75% रोजगार की बात कही थी लेकिन जनप्रतिनिधियों द्वारा कोई प्रयास नहीं किए गए हैं जिससे कि इलाके की बेरोजगारी दूर होती दिल्ली से जयपुर तक इतने रोजगार के संसाधन है की इलाके का कोई भी व्यक्ति बेरोजगार नहीं रहता लेकिन ऐसा नहीं हुआ है। शिक्षा को भी राजनीतिक स्टैंड में डालने का आरोप राष्ट्रीय नव चेतना मंच ने लगाया है ऐसी राजनीति से विभिन्न पार्टियों के लोगों को दूरी बनाकर रखनी चाहिए।



रेवाड़ी के सिविल हॉस्पिटल में मेडिकल ही डॉक्टरों व सहकर्मियों की कमी रहती है जांच की मशीनें भी लगभग लगभग खराब ही रहती है जिससे रोगियों को बाहर प्राइवेट हॉस्पिटलों में जांचें करानी पड़ती है उल्लेखनीय है कि जैसे पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने रोहतक का विकास कराया चौधरी देवीलाल ने सिरसा का चौधरी भजन लाल ने हिसार का

ऐसे ही अगर रेवाड़ी का सक्षम नेतृत्व होता तो जरी जूती व मेटल का एक्सपोजर हो रहा होता वह बंद नहीं होता और भ्रष्टाचार पर नकेल लगाने का काम होता। राष्ट्रीय नव चेतना मंच की पाठशाला में पढ़े हुए आज बड़े-बड़े नेताओं के मंच सजाते हैं राष्ट्रीय नव चेतना मंच देशवासियों को श्री कृष्ण जन्माष्टमी की बधाई प्रेषित करता है।

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education