Rewari News : नियम 134-A, RTE और TC की शर्त हटाने को लेकर सत्याग्रह दूसरे दिन भी जारी रहा

ग्राम समाचार न्यूज : रेवाड़ी : सरकारी स्कूलों में दाख़िले के लिए T.C. की शर्त हटाने, शिक्षा नियम 134 ए के वंचित छात्राओं के दाखिले व 134ए के इस वर्ष के आवेदन फॉर्म जल्द निकालने के लिए अभिभावकों का सत्याग्रह आम आदमी पार्टी कार्यकर्ता संजय शर्मा के नेतृत्व में दूसरे दिन भी जारी रहा।



धरनारत छात्रा नन्दनी सैनी, गीतांजली व निशिका ने कहा कि सरकार बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ के नारे को वापिस ले या हमें दाखिला दे। सरकार खुद ही अपने नियम कायदों की अनुपालना नहीं करवा पा रही हैं। हम इतने दिनों से लगातार शिक्षा विभाग के चक्कर लगा रहे है और मुख्यमंत्री जी को भी ज्ञापन दे चुके है। फिर भी आज तक हमारा दाखिला नहीं हो पाना यही दर्शाता है कि सरकार बेटियों की शिक्षा के लिए बिल्कुल भी गंभीर नहीं है। लेकिन हमने भी जिद कर ली है कि हम भी शिक्षित होने के लिए आखिरी दम तक संघर्ष जारी रखेंगे।



धरने पर मौजूद अनेक अभिभावकों ने बताया कि कई स्कूल इस वर्ष से मासिक फीस मांगने लगे हैं इसलिए सरकार को 134ए के तहत पढ़ रहे बच्चों से किसी भी प्रकार की कोई भी फीस व फण्ड नहीं वसूलने के निर्देश सभी स्कूलों को जल्द जारी कर देने चाहिए और 134 ए के आवेदन फॉर्म जल्द निकालने चाहिए ताकि बच्चों की और अधिक पढाई बाधित ना हो। 134 ए के वंचित बच्चों को जल्द दाखिला दिलवाया जाये। इसके अलावा सरकारी स्कूलों में दाखिला लेने वाले बच्चों के लिए T.C. की अनिवार्यता को खत्म किया जाये ताकि आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों को भी शिक्षा मिल सके।



इस मौके पर आम आदमी पार्टी के व्यापार प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष सुभाष अग्रवाल, धर्मपाल यादव,भूप सिंह खरेरा, जगमाल सिंह, सूबेदार विक्रम सिंह यादव, मदन सिंह, रघुवीर बबेरवाल, उषा प्रजापत, सुनीता, कश्मीरी, दयावती, मधुवती, शान्ति सैनी, माया सैनी, सुमन सैनी समेत अनेक लोग मौजूद थे। 
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education