Chandan News: अपुर्ण आवास लाभुकों से मिलकर एक सप्ताह के अंदर प्रधानमंत्री आवास पूर्ण करने का दिया सख्त निर्देश

ग्राम समाचार,चांदन,बांका। शुक्रवार 20 मई को प्रखंड के ग्राम पंचायत चांदन व गौरीपुर के गांवों में ग्रामीण विकास विभाग एवं जिला अधिकारी के निर्देश पर चांदन विडियो राकेश कुमार व ग्रामीण आवास पर्यवेक्षक जितेंद्र वर्मा आदि के संयुक्त में टीम गठित कर गौरीपुर के तूरी टोला में 2016-17 2018-19 के अपुर्ण आवास एवं आवास प्लस लाभुकों का निरीक्षण किया गया साथ ही अपुर्ण आवास के लाभार्थीयों से बात करते कहा कि जो लाभुक प्रथम किश्त की राशि उठा कर अब तक आवास निर्माण शुरू नहीं किया है वैसे लाभुकों को दो दिन के अंदर आवास निर्माण शुरू कर तेजी लाने को  कहा गया। इस योजना के आवास अपुर्ण लाभुक टेकन तूरी, अनिल तूरी, सदानंद तूरी, दिवाकर तूरी, रोहित तूरी, संतोष तूरी,सुनिल गुरू,बेबी देवी, सुदामा देवी,मीना देवी आदि लाभुक को 


कड़ी हिदायत देते हुए कहा कि तीन महीने के भीतर अपूर्ण आवास को पूरा कर लें। अन्यथा पहले सादा नोटिस बाद में लाल नोटिस जारी कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।इसी क्रम में वीडियो राकेश कुमार ने चांदन पंचायत के आवास सहायक रवी शंकर कुमार व गौरीपुर पंचायत के आवास सहायक अभिषेक कुमार को निर्देश दिया कि वैसे हठी लाभुक जोकि प्रथम किस्त की राशि लेकर आवास निर्माण नहीं कर रहा हो उसके विरुद्ध नियमानुसार नीलाम पत्र दायर कर कार्यालय को समर्पित करें और विभागीय आदेशानुसार 1 सप्ताह के बाद भी कार्य प्रारंभ नहीं करता है उस पर प्राथमिकी दर्ज करना सुनिश्चित करें। ज्ञात हो कि जो लाभुक प्रथम किस्त लेकर घर नहीं बनाना चाहते हैं वैसे लाभुक से 18% चक्रवृद्धि ब्याज की दर से सरकार को राशि वापस करना होगा। इस मौके पर ग्रामीण आवास पर्यवेक्षक जितेंद्र वर्मा व आवास सहायक अभिषेक कुमार के दर्जनों ग्रामीण  मौजूद थे।

उमाकान्त साह,ग्राम समाचार संवाददाता, चांदन।

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education