Rewari News : नई सब्जी मंडी में बोरे में बंद कर गौ वंश के शव को फेंका


ग्राम समाचार न्यूज : रेवाड़ी शहर की नई सब्जी मंडी में बीती रात एक बंद बारे में मृत गोवंश का शव मिला है. गोवंश की लाश दो-तीन दिन पुरानी लग रही है सूचना पाकर बजरंग दल की टीम मौके पर पहुंची और गोवंश का हिंदू रीति रिवाज के अनुसार मिट्टी देकर अंतिम संस्कार किया गया. गौ रक्षा एव बजरंग दल की टीम ने घटना की कड़ी निंदा करते हुए रोष जताया है और कहा है कि आए दिन बेज़ुबान जानवरों पर अत्याचार की घटनाएं सामने आ रही है. सब्जी मंडी में इस तरह गोवंश की लाश मिली है जिससे गौ माता के साथ दुर्गति की जाती है जो कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी पहले भी कई मामले इस तरह सामने आ चुके हैं. फिलहाल बजरंग दल की टीम ने जमीन में गड्ढा खोदकर मृत गोवंश को दबा दिया है. 



रेवाड़ी में एक शर्मनाक घटना सामने आई है जहां शहर के मुख्य चौराहे नाईवाली चौक स्थित सब्जी मंडी जैसी भीड़भाड़ वाले स्थान पर घटित हुई। इस गंभीर घटना में सनातन धर्म के अनुसार माता समान सम्मानजनक एव पूजनीय गौ माता के साथ निंदनीय घटना सामने आई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार देर शाम एक सूचना पाकर बजरंग दल के सदस्य घटनास्थल पर पहुँचे। उन्हें जानकरी दी गयी थी कि एक कट्टा 2-3 दिन से लावारिस पड़ा है। मौके पर पहुँचे बजरंग दल के सह जिला संयोजक सुमित शर्मा ने बताया कि वहाँ बहुत दुर्गंध आ रही थी। कट्टा खोला गया तो आसपास के लोग चकित रह गये। उस कट्टे में म्रतवस्था में एक छोटी बछिया मिली जो की सड़ चुकी थी। मौके पर मौजूद सदस्य जिला संयोजक गौरव रेवाड़ी ने रोष प्रकट किया। टीम के सदस्य नवीन, काका, प्रवीन, नितिन, कपिल कौशिक  एवं अन्य साथियों ने मिलकर गौवंश का हिन्दु रिति रिवाज के अनुसार अंतिम संस्कार किया। हालांकि मामले में अभी पुलिस को किसी तरह की कोई शिकायत नहीं दी गई है.

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education