Rewari News : बैंकों के बाहर पार्किंग से लगने वाले जाम पर रोक लगाने के लिए लोक अदालत में दायर की याचिका, 25 अप्रैल को होगी सुनवाई


रेवाड़ी 7 अप्रैल.शहर के सर्कुलर रोड पर स्थित अनेकों बैंक में पार्किंग व्यवस्था ना होने को लेकर अधिवक्ताओं के एक समूह ने  परमानेंट लोक अदालत में याचिका दायर की है. अधिवक्ताओं ने याचिका दायर कर मांग की है कि सर्कुलर रोड शहर के चारों ओर फैला हुआ है. इस रोड पर अनेकों सरकारी व गैर सरकारी बैंकों की भरमार है . इन बैंकों में आने वाले उपभोक्ताओं के वाहन अक्सर फुटपाथ एवं सड़क के बीचो बीच खड़े रहते हैं . जिससे शहर की ट्रैफिक व्यवस्था चरमरा गई है और सर्कुलर रोड पर निकलने वाले वाहनों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. नगर परिषद रेवाड़ी की ओर से इस संदर्भ में कोई कार्यवाही नहीं की गई है . अनावश्यक रूप से पार्किंग होने के कारण आम यातायात प्रभावित है, सभी राहगीरों के लिए बड़ी समस्या बना हुआ है. इसके अतिरिक्त बैंकों के बाहर उपभोक्ताओं के बैठने के लिए न तो पर्याप्त बैठक के लिए  टीन शेड वगैरह की व्यवस्था की गई है. उपभोक्ताओं को पीने के लिए वाटर कूलर पेयजल आदि की भी व्यवस्था नहीं है. इन समस्याओं से निजात दिलाने के लिए शहर के अधिवक्ता सुनील भार्गव, शौकीन शर्मा, शमशेर यादव, विपिन यादव, संदीप शर्मा, धर्मेंद्र सुहाग एडवोकेट, रविंद्र कुमार व बाबूलाल खोला ने संयुक्त रूप से याचिका दायर कर नगर परिषद व उपायुक्त महोदय और चेयरमैन नगर परिषद को पक्षकार बनाया है. इस संदर्भ में आवश्यक कदम उठाए जाने के लिए याचिका दायर की जिस पर कार्रवाई करते हुए परमानेंट लोक अदालत यूटिलिटी सर्विस बोर्ड के चेयरमैन जग भूषण गुप्ता ने पक्षकारों को नोटिस जारी किए हैं . इस मामले की आगामी सुनवाई 25 अप्रैल को होगी.

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education