Jamshedpur New: मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने खरसावां गोलीकांड के वीर शहीदों को दी श्रद्धांजलि


ग्राम समाचार,  संवाददाता, जमशेदपुर:  मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने आज सरायकेला- खरसावां जिला अंतर्गत खरसावां के वीर शहीद केरसे मुंडा चौक में शहीद स्मृति चिन्ह और शहीद पार्क स्थित शहीद स्मारक (शहीद बेदी) पर  माल्यार्पण कर खरसावां गोलीकांड के वीर शहीदों को श्रद्धांजलि दी । मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड  हमेशा से वीरों और शहीदों की भूमि रही है। यहां के अनगिनत वीरों ने राज्य और देश की खातिर अपनी शहादत दी है । इतिहास के पन्नों में ऐसे कई शहीदों के नाम दर्ज हैं तो कई आज भी गुमनाम हैं। खरसावां गोलीकांड समेत अन्य गुमनाम शहीदों की पहचान कर उनके आश्रितों को सरकार सम्मान और अधिकार देने का प्रयास कर रही है । 

 पर्यटक स्थल के रूप में विकसित होगा शहीद पार्क 

मुख्यमंत्री ने कहा कि हर वर्ष 1 जनवरी को खरसावां गोलीकांड के वीर शहीदों को नमन और श्रद्धांजलि देने बड़ी संख्या में लोगों के यहां आने की परंपरा वर्षों से चली आ रही है । पीढ़ी- दर- पीढ़ी इन शहीदों की वीर गाथा से अवगत रहे, इसका ख्याल रखना है । उन्होंने कहा कि खरसावां गोलीकांड के वीर शहीदों की याद में निर्मित शहीद पार्क को पर्यटक स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा । इसके लिए राज्य सरकार ने 16 करोड़ रुपए की स्वीकृति दी है। इस राशि से शहीद पार्क के सौंदर्यीकरण के अलावा यहां बहुउद्देशीय भवन समेत कई  सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी ।

 शहीदों के आश्रितों को सरकारी नौकरियों में आरक्षण 

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के अमर शहीदों और अलग राज्य के लिए संघर्ष करने वाले आंदोलनकारियों अथवा उनके आश्रितों को पेंशन समेत अन्य सुविधाएं सरकार द्वारा दी जा रही हैं । 

उन्हे उनका पूरा हक और अधिकार मिलेगा । इस सिलसिले में झारखंड के अमर शहीदों के आश्रितों को सरकारी नौकरियों में 5 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण देने का अति महत्वपूर्ण निर्णय सरकार ने लिया है । 

कालीदास मुर्मू, जमशेदपुर।

Share on Google Plus

Editor - कालीदास मुर्मू , जमशेदपुर

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education