Rewari News : SN झुग्गी झोपड़ी स्कूल के 121 बच्चों ने गुरुद्वारा श्री कलगीधर साहिब में लंगर ग्रहण किया



श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाश उत्सव पर एस एन झुग्गी झोपड़ी स्कूल के 121 बच्चों ने स्कूल की प्रिंसिपल श्रीमती प्रवीण मेहता के साथ गुरुद्वारा श्री कलगीधर साहिब मॉडल टाउन रेवाड़ी में श्री गुरु ग्रंथ साहिब के आगे माथा टेक कर गुरु घर की खुशियां प्राप्त करते हुए लंगर ग्रहण किया। बच्चे अपने स्कूल से लाइन में चलते हुए तथा बोले सो निहाल सत श्री अकाल कहते हुए पैदल गुरुद्वारा साहिब में एक जुलूस के रूप में गए और आए। सड़क पर आने जाने वाले लोग रुक रुक कर इन बच्चों को नमन कर रहे थे। स्कूल की अध्यापिकाओं को बहुत मेहनत करनी पड़ी। बहुत सावधानी से उन्होंने सड़क पार करवाई। गुरुद्वारा साहिब में आदरणीय श्री बी डी मलिक एवं गुरुद्वारे के मुख्य ग्रंथि तथा गुरुद्वारे में उपस्थित साध संगत ने बच्चों का स्वागत किया। बच्चों ने एक कतार में माथा टेका तथा गुरबाणी का आनंद लिया। गुरुद्वारे में भीड़ को देखते हुए। 



श्री बी डी मलिक ने निर्णय लिया कि इन छोटे बच्चों को सर्वप्रथम लंगर रूपी प्रसाद दिया जाएगा। बच्चों ने बड़े प्रेम प्यार से सतनाम श्री वाहेगुरु का जाप करते हुए प्रसाद ग्रहण किया। अधिकतर बच्चों ने गुरुद्वारा साहिब के पहली बार दर्शन किए थे। स्कूल की अध्यापिका श्रीमती रचना धमीजा एवं शालू अरोड़ा ने बच्चों को माथा टेकना सिखाया। श्रीमती नीलम गुप्ता एवं रेखा दडोली श्रीमती प्रगति तथा बच्चों को निस्वार्थ भाव से पढ़ा रही ललिता मेमोरियल हॉस्पिटल से आई डॉक्टर आरुषि ने बच्चों की बहुत मदद की। श्रीमती कुसुम यादव ने स्कूल में बच्चों को श्री गुरु नानक देव जी की शिक्षाओं से अवगत कराया। स्कूल संचालक नरेंद्र गुगनानी ने गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी का बच्चों में धार्मिक प्रवृत्ति पैदा करने के लिए तथा इतना मान सम्मान देने के लिए हार्दिक रूप से धन्यवाद किया।

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education