Rewari News : 700 किसानों की शहादत के बाद तीन कानून वापस लेने के लिए धन्यवाद मोदी जी : कुलदीप शर्मा

प्रकाश पर्व के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जैसे ही तीन कृषि कानून को वापिस लेने की घोषणा की देश भर के किसानों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी कृषि कानूनों की वापसी पर आम आदमी पार्टी नेता कुलदीप शर्मा ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा की 700 से ज्यादा किसानों की शहादत के बाद तीन काले कृषि कानूनों को वापिस के लेने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी का धन्यवाद और आज एक अड़ियल व तानाशाही सरकार की हार और लोकतंत्र की जीत हुई है हालांकि यह जीत तब तक अधूरी है जब तक तीनो कानून संसद में निरस्त नहीं हो जाते. कुलदीप शर्मा ने आगे कहा कि देश के अन्नदाता ने बता दिया की अगर सच्ची लगन व एकता से किसी लड़ाई को लड़ा जाए तो उसे जीता जा सकता है और बड़े से बड़े नेता को झुकाया जा सकता है शर्मा ने आगे भाजपा पर तंज कसते हुए कहा की तीन कृषि कानून के फायदे बताने वाले भाजपा के नेता आज आगे आकर बताए कि ये फायदे वाले कानून आज वापिस क्यों ले लिए गए, यह कानून आज भी भारत सरकार ने आगामी चुनावों को देखते हुए वापिस लिए क्योंकि अब भाजपा के भीतर से इन बिलों के खिलाफ आवाज उठ रही थी.



1907 में अंग्रेजी शासन के काल के बाद यह सबसे लंबा चलने वाला आंदोलन था और तब अंग्रेज सरकार को झुकना पड़ा था और आज अहंकारी मोदी सरकार को, यह बड़ा पीड़ादाई रहा कि इस लड़ाई में हमारे 700 से ज्यादा अन्नदाता अपनी फसल और नसल बचाने के लिए शहीद हो गए. शर्मा ने कहा कि उन्हें गर्व है कि जबसे यह तीन कानून संसद में आए तबसे आम आदमी पार्टी, उसके नेता और कार्यकर्ता सड़क से संसद तक किसानों के साथ खड़े रहे, चाहे वह संसद में बिल के खिलाफ वोट करना हो, किसानों के लिए जेल बनाने के लिए केंद्र सरकार की स्टेडियम बनाने मांग को ठुकराना हो, हरियाणा, पंजाब व उत्तरप्रदेश में किसानों के हित में किसान महापंचायत करना हो या किसानों को दिल्ली के हर बॉर्डर पर जल, शौचालय या वाई फाई जैसी सुविधाएं मुहैया करवाना हो. उन्होंने आगे कहा कि भले ही यह तीनों काले कानून रद्द हो गए हो पर देश यह नहीं भूलेगा की किस प्रकार भारतीय जनता पार्टी के नेताओ ने हमारे किसानों को कभी खालिस्तानी, कभी पाकिस्तानी, कभी उपद्रवी और भी ना जाने क्या क्या कहा, तरह तरह के षड्यंत्र किसान व किसान आंदोलन को बदनाम करने के लिए गए पर हमारे किसान एकजुट रहे, इस आंदोलन की और एक खास बात रही बरसो से पंजाब हरियाणा को बांटने वाले नेताओं की भी हार और दोनो प्रदेश के किसानों ने एक जुट होकर किसानों के हक की लड़ाई लड़ी.अंत में शर्मा ने कहा की केंद्र सरकार जल्द से जल्द कानून को संसद में वापिस करे और एमएसपी गारंटी का कानून लिखित में लागू करे ताकि हमारे किसान कम दाम के अभाव में आत्म हत्या न करे ।

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education