Bhagalpur News:आत्मा योजनार्न्तगत किसान पुरस्कार सह सम्मान समारोह आयोजित





ग्राम समाचार, भागलपुर। बिहार कृषि महाविद्याल सबौर के सभागार में शनिवार को आत्मा योजनार्न्तगत किसान पुरस्कार, सर्वश्रेष्ठ समूह पुरस्कार एवं देसी तथा समेकित पोषक तत्व प्रबंधन सर्टिफिकेट कोर्स के प्रशिक्षित प्रतिभागियों का प्रमाण पत्र वितरण समारोह का आयोजन किया गया। समारोह के मुख्य अतिथि अमरेन्द्र प्रताप सिंह कृषि मंत्री बिहार सरकार के द्वारा वित्तीय वर्ष 2020-2021 अन्तर्गत जिले के सभी 16 प्रखंडों में धान, गेहूँ, आलू, दुग्ध (पशुपालन ) एवं मछली पालन प्रक्षेत्रों में सर्वाधिक उत्पादन करने वाले कुल 66 किसानों को "किसान श्री" का सम्मान राशि 10,000 हजार रुपये प्रशस्ति पत्र एवं अंगवस्त्र द्वारा सम्मानित किया गया। जिले स्तर पर उक्त प्रक्षेत्र में सर्वाधिक उत्पादन करने वाले कुल 05 कृषकों को "किसान गौरव पुरस्कार की राशि 25,000 हजार रुपया तथा प्रशस्ति पत्र प्रदान कर अंग वस्त्र द्वारा सम्मानित किया गया। आत्मा द्वारा गठित किसान हित समूहों में सर्वश्रेष्ठ समूह पुरस्कार के लिए चयनित किसान हित समूह को राशि 20,000 हजार रुपये एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। आत्मा द्वारा संचालित देसी कार्यक्रम अन्तर्गत प्रशिक्षित कुल 38 सफल अभ्यर्थियों एवं समेकित पोषक तत्व प्रबंधन सर्टिफिकेट कोर्स आत्मा भागलपुर द्वारा प्रशिक्षित कुल चार बैच के कुल 120 सफल अभ्यर्थियों का प्रमाण पत्र वितरण किया गया। इस अवसर पर कृषि मंत्री ने अपने संबोधन में बताया कि राज्य के किसानों द्वारा कृषि एवं अन्य प्रक्षेत्रों को आधुनिक तकनिकी का उपयोग कर उत्पादन में काफी वृद्धि की गई है। ऐसे प्रगतिशील उत्पादक किसानों को आत्मा योजनान्तर्गत "किसान पुरस्कार कार्यक्रम के तहत सम्मानित किया जा रहा है। किसान पुरस्कार कार्यक्रम पूरे बिहार राज्य के प्रगतिशील किसानों को प्रखंड, जिला और राज्य स्तर पर सम्मानित करने एवं उनकी पहचान राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर पर स्थापित करने के उद्देश्य से संचालित किया जा रहा है। गाँवों में सीमित संसाधनों वाले किसानों को किसान हित समूह के माध्यम से संगठित खेती करने एवं अपने उत्पाद का प्रसंस्करण के द्वारा स्वरोजगार और बड़े मंडियों तक अपने उत्पाद बिक्री करने को प्रोत्साहन के लिए सर्वश्रेष्ठ समूह पुरस्कर योजना से प्रारंभ की गई है। उन्होंने बताया कि भागलपुर जिले में आत्मा का कार्य किसानों के हित में काफी उपयोगी है। समारोह की अध्यक्षता डॉ० अरूण कुमार, कुलपति, बिहार, कृषि विश्वविद्यालय, सबौर के द्वारा किया गया। कुलपति द्वारा बताया गया कि जिले के किसान विषम परिस्थितियों में भी कृषि, मछली, पशुपालन, उद्यान आदि क्षेत्रों में नवीनतम उन्नत तकनिकी प्रयोग कर अपनी अलग पहचान बना रहे हैं। साथ ही कृषि में शिक्षित युवाओं द्वारा बड़ी संख्या में कृषि क्षेत्र में स्वरोजगार स्थापित कर उद्यम की ओर बढ़ रहे हैं। समारोह में डॉ० आर०आर० सिंह विशिष्ठ अतिथि अधिष्ठाता बिहार कृषि विश्वविद्यालय सबौर ने अपने संबोधन में आत्मा भागलपुर द्वारा बताया गया कि किसानों के हित में किसान प्रशिक्षण, परिभ्रमण, किसान मेला, किसान पाठशाला आदि कार्यक्रमों के माध्यम से जिले के महिला पुरुष किसानों को सामूहिक खेती के लिए संगठित किया गया है। साथ ही आज आत्मा भागलपुर द्वारा कृषि उद्यमी ई-किसान चौपाल कार्यक्रम के माध्यम से कृषि वैज्ञानिको, विशेषज्ञों, जिले के विभिन्न विभागीय पदाधिकारियों के द्वारा किसानों की समस्याओं के समाधान के साथ-साथ नवनीतम तकनिकी जानकारी उपलब्ध कराई जा रही है। जो आत्मा भागलपुर का काफी सराहनीय कदम है। अरूण कुमार संयुक्त निदेशक (शष्य), भागलपुर प्रमंडल भागलपुर के द्वारा आयोजन के उद्देश्यों की जानकारी दी गई। कृष्ण कान्त झा जिला कृषि पदाधिकारी के द्वारा सभी अतिथियों का स्वागत किया गया। प्रभात कुमार सिंह उप परियोजना निदेशक आत्मा भागलपुर के द्वारा मंच का संचालन एवं धन्यवाद ज्ञापन किया गया। इस अवसर पर आत्मा भागलपुर के सभी प्रखंड सहायक तकनीकी प्रबंधक एवं लाभुक किसान मौजूद थे। 


Share on Google Plus

Editor - Bijay shankar

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education