Chandan News: अज्ञात शरारती तत्व के लोगों ने एक छात्र को अगवा कर कोलकाता में छोड़ा

ग्राम समाचार,चांदन,बांका। बीते गुरुवार 16 सितंबर की देर शाम एक ऐसी घटना की सूचना प्राप्त हुई की बीज के परिजनों में कोतुहल मच गया। मोबाइल के माध्यम में परिवार सूत्रों के अनुसार जिले के देतरिया गांव निवासी भुनेश्वर यादव के पुत्र अमित कुमार उम्र 17 वर्ष के करीब आनंदपुर ओपी क्षेत्र की बाकीडीह में अपने मामा के घर रहकर पढ़ाई करता था जो कोचिंग पढ़ने मामा घर बांकीडिह से भैरोगंज स्थिति कोचिंग जाया करता था। इसी क्रम छात्र अमित कुमार 16 सितंबर गुरुवार को सुबह घर से कोचिंग के लिए भैरोगंज निकला और देर शाम तक घर नहीं पहुंचने पर परिजन चिंतित होने लगे, और अपने अस्तर से काफी खोजबीन करने पर भी पता नहीं चल पाया। जबकि छात्र अमित कुमार का मोबाइल 90071 75 765 नंबर बंद पाने से चिंता का विषय बढ़ 

गया। परिजनों ने छात्र अमित कुमार को किसी अज्ञात व्यक्तियों के द्वारा अगवा कर लेने की बात उत्पन्न होने लगी। तभी देर रात को छात्र अमित कुमार ने डरे सहमे चुपके से अपने मोबाइल ऑन कर आपबीती सुनाते हुए अगवा कर लेने की जानकारी दी। अगवा कर लेने की 62053 45415 से सूचना पर स्थानीय मीडिया के माध्यम के द्वारा आनंदपुर ओपी अध्यक्ष जितेंद्र कुमार को दी गई। सूचना पाते ही त्वरित कार्रवाई करते हुए आनंदपुर ओपी अध्यक्ष उक्त मोबाइल नंबर को लोकेशन से जानकारी मिली की छात्र के पास रखे मोबाइल नंबर कोलकाता के ईडन गार्डन के करीब 9 बजे है। जिसकी जानकारी परिजनों को मिलने पर राहत महसूस करते हुए कोलकाता में रह रहे परिजनों को सूचना दी गई। जो अगले दिन कोलकाता शहर के अनजान जगह पर अज्ञात लोगों के द्वारा अगवा किए गए छात्र अमित को छोड़कर फरार हो गया। जो परिजनों को सूचना मिलने पर छात्र अमित को सकुशल पाकर खुशी महसूस किया।सोचने की बात है कि किस मकसद से छात्र अमित कुमार को बीच रास्ते अगवा कर कोलकाता में ले जाकर छोड़ा गया। जो एक चिंता का विषय बना हुआ है। 

उमाकान्त साह,ग्राम समाचार संवाददाता,चांदन।

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education