Rewari News : प्रदेश में प्राइमरी विंग स्कूल खोलने की मांग को लेकर शिक्षा मंत्री से मिला प्रतिनिधिमंडल

हरियाणा प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के एक प्रतिनिधि मंडल ने हरियाणा के शिक्षा मंत्री माननीय कंवर पाल गुर्जर जी से जिला चरखी दादरी के बौंदकलां स्थित रेस्ट हाउस में प्रांतीय अध्यक्ष जवाहरलाल दूहन व रेवाड़ी जिला अध्यक्ष रामपाल यादव की अगुवाई में प्रदेश में नर्सरी से पांचवीं तक स्कूल खोलने के लिए मुलाकात की। महेंद्रगढ़ से जगदेव यादव और जगदीश प्रसाद जी ने प्रतिनिधित्व किया । एसोसिएशन ने नर्सरी से पांचवीं कक्षा तक की क्लासेस को खुलवाने के लिए माननीय शिक्षा मंत्री से निवेदन किया और उन्होंने बताया कि पिछले 18 महीने से प्राथमिक स्कूल पूर्णतया बंद है जिससे बच्चों में शारीरिक व मानसिक विकार पैदा होने लगे हैं ।



साथ ही बच्चों की आंखों व मानसिक विकास पर भी बहुत बुरा प्रभाव पड़ रहा है । एसोसिएशन के प्रतिनिधि मंडल ने शिक्षा मंत्री को बताया कि प्रदेश में सभी तरह के संस्थान चाहे वह व्यापार, यातायात ,निजी होटल ,रेस्टोरेंट्स ,जो भी है सभी सरकार के द्वारा खोल दिए गए हैं । जबकि कोरोना का प्रभाव छोटे बच्चों पर ना के बराबर है इस बारे में एक्सपर्ट्स की राय को शामिल किया जाए तो उनके अनुसार बच्चों में लॉस आफ लर्निंग यानी सीखने की कमी लगातार अब ऑब्जर्व की जा रही है । ।साथ ही  बच्चों में लिखने पढ़ने का और गणित का कौशल लगातार गिर रहा है। इससे पूरी एक पीढ़ी को भारी नुकसान होने की आशंका है ।अत सरकार को चाहिए कि अविलंब नर्सरी से पांचवीं तक की कक्षाओं के लिए भी स्कूल खोले जाएं ।

प्रतिनिधिमंडल ने माननीय शिक्षा मंत्री जी से निजी विद्यालयों के विद्यार्थियों का बिना एसएलसी के सरकारी स्कूलों में किए जा रहे एडमिशन पर सख्त एतराज प्रकट किया और कहा कि शिक्षा विभाग इस तरह का पक्षपात पूर्ण रवैया अपनाकर हरियाणा प्रांत में शिक्षा के माहौल को खराब कर रहा है । इससे गैर सहायता प्राप्त निजी विद्यालयों के संचालकों में भारी आक्रोश है ।उन्होंने बताया कि विभाग की जिम्मेदारी है कि उनके द्वारा तय नियमों को पहले स्वयं अपनाएं तत्पश्चात स्कूलों को अपनाने के लिए प्रेरित करें ।उन्होंने बताया कि विभाग एमआईएस पोर्टल से डेटा चोरी करके उसका उपयोग  सरकारी स्कूलों में बच्चों की संख्या बढ़ाने के लिए इस्तेमाल कर रहा है जोकि सरासर नियमों का उल्लंघन है और इस पर विभाग को तुरंत प्रभाव से रोक लगानी चाहिए ।  

 इस पर  माननीय शिक्षा मंत्री ने संयुक्त रूप से बयान जारी कर प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन दिया कि इस बाबत शीघ्र एक कमेटी का गठन किया जाएगा जिसमें निजी विद्यालयों से जुड़े संगठनों के प्रतिनिधियों को शामिल कर इसका स्थाई समाधान विभाग के नियमानुसार किया जाएगा और भविष्य में इस तरह की किसी भी गतिविधि को सरकार द्वारा प्रोत्साहित नहीं किया जाएगा । एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष जवाहरलाल जी ने कहा कि यदि शिक्षा विभाग  ने बिना एसएलसी के एडमिशंस पर शीघ्र रोक नहीं लगाई तो इसके लिए माननीय उच्च न्यायालय में न्यायालय की अवमानना से संबंधित केस दायर किया जाएगा जिसमें संबंधित स्कूलों के प्राचार्य ,अधिकारीगण वह निदेशालय को पार्टी बनाकर कार्रवाई की जाएगी । इस पर माननीय शिक्षा मंत्री ने एसोसिएशन के पदाधिकारियों को आश्वस्त किया कि एक्सपर्ट्स की राय लेकर शीघ्र ही प्राथमिक कक्षाओं तक स्कूल खोले जाएंगे व गैर सहायता प्राप्त स्कूलों के प्रतिनिधियों के साथ एक संयुक्त कमेटी का गठन कर बिना एसएलसी किए गए दाखिलों से जुड़ी समस्या का समाधान किया जाएगा ।  इस अवसर पर पूर्व प्रधान सुमेर सिंह , बावल से सतपाल सिंह ,संदीप यादव ,सुरेंद्र सिवाच ,नरेंद्र यादव  और चौधरी रणबीर सिंह आदि पदाधिकारी उपस्थित रहे ।

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education