Pathargama News: चापाकल के पानी बहने को लेकर हुई मारपीट में एक महिला घायल

ग्राम समाचार, पथरगामा:- रविवार 15 अगस्त को थाना क्षेत्र अंतर्गत गोड्डा सदर प्रखंड के गोरसंडा गांव में दरवाजे पर बह रहे चापाकल का पानी को चापाकल के साथ बने शाकपीट में ही पानी डालने की बात करने पर गांव के ही राजेंद्र यादव की 38 वर्षीय पत्नी निर्मला देवी के साथ मारपीट कर सर फोड़ देने का मामला पथरगामा थाना में दर्ज किया गया है| निर्मला देवी के द्वारा दिए गए आवेदन पर आज 16 अगस्त सोमवार को थाना कांड संख्या 133/21 भादवि की धारा 341,323,325,354,307,504,34 भादवी के तहत गांव के ही मनोज यादव पिता बुची यादव, दीपक यादव पिता मनोज यादव, निर्मला देवी पति मनोज यादव, मोo कोशल्या पति स्वर्गीय भुनेश्वर यादव, शोखा कुमारी पिता मनोज यादव, मुकेश यादव पिता मनोज यादव पर मामला दर्ज कर लिया गया है| मामले का अनुसंधान पदाधिकारी सुरेश पहन को बनाया गया है|

   

 थाना में दिए गए आवेदन के अनुसार बुगो यादव पिता जिलेबी यादव के घर के चापाकल का पानी बहकर निर्मला देवी के दरवाजे होते हुए मनोज यादव के दरवाजे की तरफ बहता है इस बात की शिकायत मनोज यादव निर्मला देवी से हमेशा करते रहता था| इसी बात के चलते निर्मला देवी बुगो यादव को चापाकल का पानी को सौकपीट में ही रोकने की बात करने गई थी| जैसे ही वहां से लौट कर आई तो उपरोक्त सभी ने गाली गलौज देते हुए उसकी बाल पकड़कर घसीट घसीट कर मारपीट करना शुरू कर दिया| बाद में वह दूध बेचने चली गई| लौट कर आई तो देखा कि बुगो यादव और कारगिल यादव उसकी बेटी सपना कुमारी, काजल कुमारी, प्रेमलता कुमारी, और बेटा प्रिंस कुमारी को बाल पकड़कर घसीट घसीट कर मार रहा था, और मनोज यादव हाथ में लोहे का रॉड लेकर खड़ा था| मार खा रहे अपने बच्चों को बचाने के क्रम में जब निर्मला देवी बचाव करने लगी तो कारगिल यादव मनोज के हाथ से रड लेकर निर्मला के सर पर दे मारा जिससे उसका सर फट गया जिससे काफी खून बहने लगा और वह गिर पड़ी|

अमन राज:-

Share on Google Plus

Editor - भूपेन्द्र कुमार चौबे

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education