बिजनेस डेस्क मुंबई: चार राइडिंग मोड से लैस एक और इलेक्ट्रिक स्कूटर हुआ लॉन्च


ग्राम समाचार, बिजनेस डेस्क मुंबई:- पेट्रोल डीजल तथा सीएनजी से चलने वाले वाहनों का जमाना पीछे छूटते चला जा रहा है| थोड़ी विलंब से ही सही ऑटोमोबाइल कंपनियों ने इलेक्ट्रिक वाहनों के बाजार में धमाकेदार एंट्री कर दी है| कई कंपनियों ने अपने नए ब्रांड का इलेक्ट्रिक स्कूटर को लॉन्च किया है| इसी क्रम में बेंगलुरु की इलेक्ट्रिक वाहन कंपनी सिंपल एनर्जी ने  ईस्कूटर सिंपल वन पेस किया है| कंपनी ने कहा कि इस स्कूटर की अधिकतम गति सीमा 105 किलोमीटर प्रति घंटे की है। यह चार राइडिंग मोड इको, राइड, डैश और सोनिक में चल सकता है। बेंगलुरु की इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) कंपनी सिंपल एनर्जी ने अपना प्रमुख ई-स्कूटर सिंपल वन पेश किया है। इसकी एक्स-शोरूम कीमत 1,09,999 रुपये है। सिंपल एनर्जी ने सोमवार को जारी बयान में कहा कि यह स्कूटर 15 अगस्त को उतारा गया। बयान में कहा गया है कि सिंपल वन में 4.8 केडब्ल्यूएच की लिथियम आयन बैटरी लगी है। कंपनी ने कहा कि इस स्कूटर की अधिकतम गति सीमा 105 किलोमीटर प्रति घंटे की है। यह चार राइडिंग मोड इको, राइड, डैश और सोनिक में चल सकता है। राइडिंग मोड तक 7 इंच के टचस्क्रीन पैनल के जरिये पहुंचा जा सकता है। सिंपल एनर्जी के संस्थापक मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) सुहास राजकुमार ने कहा, ‘‘हम पिछले साढ़े तीन साल से इन दिन का इंतजार कर रहे थे। हम ईवी उद्योग में उचित बदलाव लाना चाहते हैं।’’ यह स्कूटर 13 राज्यों कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, केरल, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, दिल्ली, राजस्थान, गोवा, उत्तर प्रदेश, गुजरात और पंजाब में पेश किया गया है। इलेक्ट्रिक स्कूटर फेम दो के तहत 60,000 रुपये तक की सब्सिडी के लिए पात्र है। कंपनी ने कहा कि राज्यवार सब्सिडी के हिसाब से इस इलेक्ट्रिक स्कूटर का दाम विभिन्न स्थानों पर भिन्न-भिन्न हो सकता है। सिंपल वन की बुकिंग खुल गई है। इसकी बुकिंग 1,947 रुपये से शुरू होगी।




Share on Google Plus

Editor - भूपेन्द्र कुमार चौबे

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education