Bhagalpur News:एम्स देवघर का सारा श्रेय गोड्डा लोकसभा की जनता और भाजपा के कार्यकर्ताओं को जाता है – संतोष दुबे



ग्राम समाचार, भागलपुर। समाजसेवी संतोष दुबे ने कहा कि एम्स देवघर का सारा श्रेय गोड्डा लोकसभा की जनता को और भाजपा के हरेक कार्यकर्ता को जाता है। जिसने हर परिस्थिति में  गोड्डा के सांसद का साथ दिया। मैंने पहले भी कहा था आज फिर कह रहा हूँ। एम्स लाने के लिये देश के सारे सांसद लालायित रहते हैं। उसमे कुछ सांसदों को ही सफलता मिल पायी है। जिनमें सोनिया गांधी, योगी आदित्यनाथ, अनुराग ठाकुर और निशिकांत दुबे शामिल हैं। राज्य सरकार के लिये राजधानी में एम्स हो ऐसा प्रस्ताव भेजना आसान होता है, क्योंकि अधिकांश राजधानी एम्स के नॉर्म्स में फिट बैठता है। झारखंड का पहला ही एम्स राजधानी छोड़कर देवघर में आया। जनता को श्रेय इसलिए जाता है क्योंकि इसने डबल इंजन की सरकार चुना था। जहां विकास के नाम पर कोई मतभेद नहीं था। जनता को श्रेय इसलिए जाना चाहिए क्योंकि शिलान्यास से उद्घाटन तक उसने सांसद को नहीं बदला। आज क्रेडिट देने या नहीं देने का पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। होना भी चाहिए। लोकतंत्र में ये जायज भी है। जनता और भाजपा कार्यकर्ता अच्छे से जानते हैं कि क्रेडिट किसको दिया जाय, किसको नहीं। ये 2009 से लेकर 2019 तक के चुनाव में हमने देखा है। संतोष दुबे ने बताया कि आज खुशी का दिन है पूरे अंग क्षेत्र और संथाल परगना के लिये। इस खुशी में पूरा पक्ष और विपक्ष को शामिल होना चाहिए। संतोष दुबे ने बताया कि एक सज्जन बार बार सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रहे हैं, डीआरडीओ  की वजह से एम्स। उनके लिये भी डीआरडीओ किसकी संस्था है और किसके नियंत्रण में संचालित होता है। थोड़ी जानकारी जुटा लेनी चाहिए। गोड्डा के सांसद में इतनी क्षमता जरूर है कि उन्होंने तत्कालीन रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर को देवघर लाये थे। इतना ही नहीं तीनों सेना के प्रमुख राष्ट्रपति तक को गोड्डा लोकसभा की धरती पर लाने में अपनी अहम भूमिका निभाई थी। राष्ट्रपति ने खुले मंच से इस बात को स्वीकार किया था कि निशिकांत हमारे परम मित्र है। कर्म का फल सबको मिलता है। जो सपना देखेगा बाबा बैद्यनाथ उस सपने को साकार भी करेंगे। देश के प्रधानमंत्री को अनुपम उपहार देने के लिये बधाई। 

Share on Google Plus

Editor - Bijay shankar

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education