expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Online Education


Rewari News : कुलपति व कुलसचिव ने विश्वविद्यालय में किया वृक्षारोपण


 

इंदिरा गाँधी विश्वविद्यालय, मीरपुर के कुलपति प्रो. एस.के.गक्खड़ द्वारा राष्ट्रीय सेवा योजना के दो द्विवसीय वृक्षोरापण कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया।  इस कार्यक्रम की शुरूआत कुलपति प्रो. एस.के.गक्खड़ द्वारा तीन फलदार पौधारोपण करके की। उन्होंने बताया कि पौधे हमारें जीवन के लिए कितने महत्वपूर्ण है व आक्सीजन की कमी का कारण लगातार कटते पेड़ों को बताया तथा हम आक्सीजन की कमी का मतलब हम कोरोना महामारी में देख चुके है।
कुलसचिव प्रो. प्रमोद कुमार ने राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों की कार्य की सराहना की व सभी स्वयंसेवकों को आगे भी इसी प्रकार के कार्य करते रहने के लिए प्रेरित किया। उन्होने पेड़ो व प्रकृति का अनूठा संयोग बताते हुए कहा कि जो हम प्रकृति को देते है, वहीं प्रकृति हमें वापस लौटाती है। कटते पेड़, घटती आक्सीजन व दूषित वायु इसका एक अनुपम उदारहरण है।
इस अवसर पर विश्वविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम समन्वयक डॉ. कर्ण सिंह ने बताया कि स्वयंसेवक राष्ट्रीय हित के सदैव तत्पर है। विश्वविद्यालय की इकाईयों के कार्यक्रम अधिकारियों सहित सुशान्त यादव ने कहा कि विश्वविद्यालय परिसर में विभिन्न प्रकार की प्रजातियों के लगभग 1000 पौधे लगाकर विश्वविद्यालय परिसर को हरा-भरा बनाने का उदेदश्य है ।
इस अवसर पर कुलपति प्रो. एस.के.गक्खड़ व कुलसचिव प्रो. प्रमोद कुमार ने राष्ट्रीय सेवा योजना के सागर यादव, कीर्ती , योगेश कुमार, सीमा यादव स्वयंसेवकों को कोविड-19 के दौरान किए गए कार्याें की सराहना करते हुए उन्हें प्रशस्ति चिहन भेटकर सम्मानित भी किया ।
इस अवसर पर कार्यक्रम अधिकारी डॉ. राजेन्द्र, डॉ. भारती एवं सुशान्त यादव सहित विश्वविद्यालय के सुरक्षा प्रभारी श्री मुकेश भी मौजूद रहे।
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें