चांदन न्यूज: आदिवासी समाज से दो-दो हाथ हुऐ चांदन पुलिस,जान बचा कर भागे,अज्ञात पर मामला दर्ज

ग्राम समाचार,चांदन,बांका।  प्रखंड क्षेत्र के बिरनिया पंचायत तेलिया मारन में शराब बनाने की सूचना पर गुरुवार 30 जून को देर रात आदिवासी टोला जाकर छापेमारी करना पुलिस को काफी मंहगा पड़ गया। जहां आदिवासी समाज के लोगों से चांदन पुलिस कोशो दुर रहना मुनासिब समझा।और आनन फानन में पुलिस को अपनी जान बचाकर भागना पड़ा।लेकिन अपनी प्रतिष्ठा बचाने के लिए पुलिस द्वारा 50 किलो महुआ की बरामदगी दिखाकर अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज करना पड़ा। मामले के सम्बंध में बताया जाता है कि पुलिस को जानकारी मिली थी कि तेलियामारन गांव में आदिवासी के घरों में अवैध शराब बना कर बेचा जाता है।इसी सूचना पर थाने की पुलिस देर रात उस गांव में जाकर कुछ लोगो के घरों की तलाशी लेने लगे।जिसमे एक परिवार का दरवाजा भी तोड़ दिया। इससे आक्रोशित आदिवासी समुदाय के लोगो ने  पूरे गांव में 

चोर चोर का हल्ला कर दिया।हल्ला के बाद सभी लोग तीर,धनुष, कुल्हाड़ी,फरसा ढोल नगाड़े के साथ पुलिस को चारों तरफ से घेर लिया।मामला काफी गंभीर होते देख पुलिस बल को वहां से जान बचा कर भागना पड़ा।देर रात तक इस मामले को पुलिस द्वारा दबाने का भरपूर प्रयास किया गया।पर कुछ ग्रामीणों द्वारा कुछ स्थानीय मीडियाकर्मी को जानकारी देने के बाद पुलिस ने उस गांव से 50 किलो महुआ बरामद करने और कुछ फुला महुआ को विनिष्ट करने की अज्ञात लोगों पर मामला दर्ज कर लिया। इस सम्बंध में अब कई गांव के आदिवासी एकजुट होकर यह आरोप लगा रहे है कि जब सरकार द्वारा शराब औऱ बालू दोनों बन्द कर दिया गया है। तो पुलिस की देखरेख में बालू की रात भर ढुलाई होती है।जबकि शराब बनाने के नाम पर हम गरीबो को देर रात बेबजह परेशान किया जाता है। इस सम्बंध में थानाध्यक्ष रविशंकर कुमार ने बताया कि जांच में महुआ औऱ फुला महुआ बरामद हुआ है।जिस पर मामला दर्ज कर लिया गया है।उस परिवार के लोगो का नाम पता लगते ही उसे पकड़ कर जेल भेज दिया जाएगा।

उमाकान्त साह,ग्राम समाचार संवाददाता,चांदन।

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education