expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Online Education


Chandan News: पति की लंबी आयु के लिए महिलाओं ने बड़े उत्साह पूर्वक किया वट सावित्री पूजा समापन

ग्राम समाचार,चांदन,बांका। पति की लंबी उम्र की कामना के लिए मनाए जाने वाले वट सावित्री व्रत को लेकर महिलाओं की भारी भीड़ पूरे देश के साथ-साथ प्रखंड क्षेत्र के मंदिरों और वट वृक्ष के नीचे देखी गई ,ज्येष्ठ मास की अमावस्या के दिन मनाए जाने वाले पर्व को लेकर महिलाएं अहले सुबह से विभिन्न मंदिरों और बट वृक्ष के नीचे पहुंचकर पुरे आस्था, श्रद्धा और भक्ति के साथ पूजा अर्चना करते दिखीं, ऐसी मान्यता है कि इस दिन सावित्री ने अपने पति के प्राण वापस लौटाने के लिए यमराज को विवश 

कर दिया था,इस व्रत वाले दिन वट वृक्ष का पूजन कर सावित्री-सत्यवान की कथा को याद किया जाता है, वट सावित्री व्रत को बिहार के साथ-साथ उत्तर भारत के कई इलाकों पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और उड़ीसा में भी मनाया जाता है, वहीं महाराष्ट्र, गुजरात और दक्षिणी भारतीय राज्यों में इसके 15 दिन बाद यानी ज्येष्ठ शुक्ल पूर्णिमा को वट सावित्री व्रत रखा जाता है, इस दिन शादीशुदा महिलाएं सुबह जल्दी उठकर, स्नान कर ,सोलह सिंगार कर अपने पति की लंबी आयु के 

लिए वट वृक्ष के नीचे पहुंचकर उनका पूजन करती है क्योंकि ऐसी मान्यता है कि वटवृक्ष मैं सभी देवताओं का वास होता है, और इस वृक्ष के नीचे सावित्री ने अपने कठोर तपस्या के बल पर मृत पति सत्यवान के प्राण यमराज से वापस लेकर उन्हें जीवित करा ली थी। मान्यता है कि यह वट वृक्ष सुहागिन महिलाओं के सुहाग की रक्षा करती है, सुहागिन महिलाओं के द्वारा अपने पति की रक्षा के लिए मनाए जाने वाले पर वट सावित्री पूजा को लेकर प्रखंड क्षेत्र से जो तस्वीर सामने आ रही है यह तस्वीर 

कोरोना संक्रमण के चेन को बढ़ाने वाली है, और जरूरत है इससे बचने की ,क्योंकि पूरे देश के साथ बिहार के कुछ जिलों में अभी भी लगातार कोरोना संक्रमित मरीज पाए जा रहे हैं।और जिस तरह से महिलाएं कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करते दिख रही हैं, वह घातक साबित हो सकता है। जबकि कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों के द्वारा अथक प्रयास के बावजूद भी कोरोना वैक्सीनेशन लेने में रुचि नहीं दिखा रही है जिससे संक्रमण की खतरा व्याप्त है। 

उमाकांत साह,ग्राम समाचार संवाददाता,चांदन।

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें