expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Online Education


Rewari News : खाद्य पदार्थो में मिलावट को रोकने के लिए खाद्य सुरक्षा विभाग द्वारा अभियान जारी

रेवाड़ी, 31 मई। खाद्य पदार्थो में मिलावट को रोकने के लिए खाद्य सुरक्षा विभाग द्वारा लगातार अभियान चलाया जा रहा है। रेवाडी जिले में अब तक छह सरसों के तेल मिल के नमूने लेकर जांच के लिए भेजा गया है। जांच रिपोर्ट आने पर आगे की कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।



जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी सचिन कौशिक ने यह जानकारी देते हुए बताया कि लोगों को शुद्ध सरसों का तेल खाने को मिले, इसे लेकर खाद्य सुरक्षा विभाग ने मिलावटखोरी को रोकने के लिए तेल मिलों में जांच अभियान शुरू किया है। एफएसएसआई के निर्देश पर शुरू किए गए इस अभियान के तहत खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने आज रेवाड़ी जिला में तीन मिलों का निरीक्षण कर तेल के सैंपल लिए, जिसमें दिल्ली रोड स्थित श्री गणेश एग्रो कंपनी, गांव फदनी में जय श्री कृष्णा ऑयल मिल, कोनसीवास रोड स्थित रेवाडी मार्ट का निरीक्षण कर सरसों के तेल के सैंपल भरें। फूड सेफ्टी ऑफिसर की माने तो विभाग का यह अभियान लगातार जारी रहेगा। जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी डॉ सचिन के नेतृत्व में टीम ने दिल्ली रोड स्थित श्री गणेश एग्रो कंपनी के मिल मालिक को साफ सफाई रखने के निर्देश दिए।


गांव फदनी में जय श्री कृष्णा ऑयल मिल पर तेल के सैंपल लेने पर पाया कि इस मिल को चलाने के लिए फूड लाइसेंस नहीं है और बिना लाइसेंस के ही तेल का कारोबार किया जा रहा है। इस पर खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने कहा कि लाइसेंस को लेकर मिल मालिक को नोटिस जारी किया जाएगा और जो भी विभागीय कार्रवाई होगी, वह अमल में लाई जाएगी। यहां यह भी बतां दे कि बीते शनिवार को भी खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने रेवाड़ी जिला में 3 मिलों पर तेल के सैंपल लिए थे।
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें