expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Online Education


Rewari News : बनवारी लाल ने कोविड-19 की समीक्षा बैठक ली, कहा-सीएचसी व पीएचसी में लगाएं जाए ऑक्सीजन कन्सैंटे्रेटर

सहकारिता मंत्री डॉ बनवारी लाल ने कहा है कि रेवाडी जिला में आक्सीजन की कोई कमी नहीं है। रेवाडी का कोटा 10 एमटी का कर दिया गया है।



सहकारिता मंत्री डॉ बनवारी लाल वीरवार को जिला सचिवालय सभागार में कोविड के बारे में किए जा रहे प्रबंधों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि रेवाडी, बावल व कोसली में ऑक्सीजन प्लांट लगाए जाएगें, इससे भविष्य में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं रहेगी। उन्होंने कहा कि रेवाडी जिला के सरकारी संस्थान में 52 ऑक्सीजन कन्सैंटे्रेटर है जिनमें से 29 नागरिक अस्पताल रेवाडी, 9 नागरिक अस्पताल कोसली, 5 सीएचसी बावल, तथा सीएचसी गुरावड़ा, सीएचसी मीरपुर, सीएचसी नाहड़, सीएचसी खोल व पीएचसी धारूहेडा में एक-एक है। इसके अलावा और ऑक्सीजन कन्सैंटे्रेटर की जरूरत होगी तो उपलब्ध करा दिए जाएगें।
  डॉ बनवारी लाल ने कहा कि डोर-टू-डोर की जा रही स्वास्थ्य जांच में कोई कोविड मरीज रिपोर्ट में आता है तो उसे तुरंत आइसोलेट कर होम किट प्रदान करें। उन्होंने कहा कि आईसोलेशन किट में जरूरी सामान हो, यह सुनिश्चित किया जाएं।
डॉ बनवारी लाल ने वैक्सीनेशन के बारे में कहा कि इस कार्य में तेजी लाने की आवश्यकता है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा वैक्सीनेशन के लिए स्लॉट में दूर के स्थान दिए जा रहे है। इसके लिए यह सुनिश्चित किया जाए कि वैक्सीनेशन का समय देते हुए नागरिक को नजदीक की पीएचसी या सीएचसी में मिले। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए टैस्टिंग पर जोर दिया जाएं तथा पॉजिटिव पाए जाने पर उसे तुंरत आइसोलेशन सेंटर में आईसोलेट करे ताकि कोरोना की चैन को तोडा जा सकें। उन्होंने कहा कि रेवाडी की लैब में पहले की अपेक्षा कम समय में रिपोर्ट मिल रही है, इसके लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम बधाई की पात्र है।
मंत्री ने कहा कि रेवाडी, धारूहेडा व बावल की सब्जी मंडियों में सुबह भीड़ होती है, इसके लिए पुलिस सब्जी मंडियों में राउंड ले तथा सोशल डिस्टेसिंग की पालना करवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि गांवों में सकारात्मक का माहौल बनाने की जरूरत है और राज्य सरकार किसी भी हाल में इसमें योगदान देने से नहीं चूकेगी। डॉ बनवारी लाल ने बताया कि घर-घर जाकर कोविड रोगियों की जांच में किसी प्रकार की ढिलाई न बरती जाए। उन्होंने कहा कि न केवल रोगियों के इलाज के लिए बल्कि वायरस को और अधिक फैलने से रोकने के लिए पर्याप्त बुनियादी ढांचा होना चाहिए। मंत्री ने कहा कि टेस्टिंग अधिक से अधिक की जाए, जिससे संक्रमित लोग चिन्हित हो और संक्रमण कम हो सके। उन्होंने कहा कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगवाई जाए। उन्होंने कहा कि कोरोना लक्षण वाले संक्रमितों को कोविड केयर सेंटर भेजा जाए, जिससे अच्छे से देखभाल हो सके।
डॉ बनवारी लाल ने ब्लैक फंगस के इलाज के बारे में कहा कि सरकार ने चंदू बठेडा व वल्र्ड मैडिकल कॉलेज झज्जर में रेवाडी के मरीजों के लिए व्यवस्था की है। उन्होंने यह भी कहा कि रेवाडी जिले में ब्लैक फंगस का इलाज हो सके इसके लिए अस्पताल की पहचान करें।  
विधायक लक्ष्मण सिंह यादव ने इस अवसर पर कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल द्वारा कोसली के लिए दिए गए दो वेंटीलेटर अब तक नहीं लगाए गए है इन्हें तुंरत लगवाया जाएं ताकि मरीजों को इसका लाभ मिल सकें। उन्होंने कहा कि सरकारी व प्राईवेट अस्पताल जो कोविड का इलाज कर रहे है उनका डाटा प्रतिदिन डिस्पले होना चाहिए ताकि लोगों को परेशानी न हो। विधायक ने कहा कि कोरोना के खतरे से निपटने के लिए ‘टेस्ट, ट्रैक एंड ट्रीट’ रणनीति का सख्ती से पालन किया जाएं। उन्होंने कहा कि सीएचसी, पीएचसी में ऑक्सीजन की सुविधा उपलब्ध करा दी जाएं ताकि आपातकालीन में उसका प्रयोग हो सकें। वैक्सीनेश के बारे में विधायक ने कहा कि इसके लिए उतने लोग ही बुलाएं जांए जितनी डोज है, ताकि सोशल डिस्टेसिंग बना रहे।
उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने सहकारिता मंत्री डॉ बनवारी लाल को कोविड-19 को लेकर जिला में किए जा रहे प्रबंधों के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि नागरिक अस्पताल रेवाडी में बने लिक्विड ऑक्सीजन टैंक में 6.5 एमटी ऑक्सीजन रिफिल करवा दी गई है तथा रेवाडी में हॉलीस्टर, कोसली में लुकास व बावल में हीरो मोटर्स कोर्प कम्पनी द्वारा आक्सीजन प्लांट लगाया जाएगा, जिसकी सभी औपचारिकताएं पूरी हो गई है। उन्होंने कहा कि कोविड मरीजों के लिए 76 बैड और बढ़ाए गए है। जिला के 35 गांवों को हॉटस्पॉट में शामिल किया है तथा 54 गांवों में एहतियात के तौर पर आईसोलेशन सेंटर बनाएं गए है।
आईएमए के प्रधान डॉ पवन गोयल ने ब्लैक फंगस के बारे में विस्तार से बैठक में बताया तथा आईएमए की तरफ से 500 होम आईसोलेशन किट भी कोविड मरीजों के लिए देने की घोषणा की।
सीएमओ डॉ कृष्ण कुमार ने बताया कि जिला का कोरोना पॉजिटिव रेट 7.2 प्रतिशत, फैटलटी रेट 1.2 प्रतिश व रिकवरी रेट 90 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि जिला में 742 बैड उपलब्ध है, जिनमें ऑक्सीजन के 368, नॉन आक्सीजन के 143, आईसीयू के 187 तथा वेंटीलेटर के 44 शामिल है।
बैठक में जिला भाजपा अध्यक्ष मास्टर हुकुम चंद, पुलिस अधीक्षक  अभिषेक जोरवाल, एसडीएम रेवाडी रविन्द्र यादव, एसडीएम बावल संजीव कुमार, एसडीएम कोसली होशियार सिंह, सीटीएम रोहित कुमार, डीआरओ राजेश ख्यालिया, डीडीपीओ एचपी बंसल, एसडीसीओ सुनील दहिया, डिप्टी सीएमओ डॉ विजय प्रकाश, डॉ दीपक, ईओ नगर परिषद मनोज, सचिव नगर पालिका धारूहेडा अनिल कुमार, सचिव नगर पालिका बावल समयपाल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहें।
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें