expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : शिक्षण संस्थाओ में 01 अप्रैल से नया सत्र शुरू, स्कूलों में वर्ष 2021-22 के लिए कक्षाएं शुरू हुई



कोरोना महामारी के बाद आज 01 अप्रैल से सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में नए शैक्षिणिक सत्र की शुरुआत हो गई है। शिक्षण संस्थाओ में सत्र 2021-22 के लिए कक्षा 1 से 12 तक दाखिले की प्रक्रिया शुरू हो गई है। स्कूलों में हवन यज्ञ के साथ नए शैक्षणिक सत्र को शुरू किया गया वहीं स्कूली बच्चो में भी नया उत्साह देखने को मिला। स्कूल संचालको की माने तो वर्ष 2020-21 शैक्षणिक सत्र पर कोरोना के साए के चलते लॉक डाउन लगा था जिस कारन सभी शिक्षण संस्थाओ में शिक्षा अत्यधिक प्रभावित रही। बच्चो और अभिभावकों पर ऑनलाइन शिक्षा का दबाव था तो वहीँ विद्यालयों फीस आदि भी अटक गई थी। लम्बे समय तक कोरोना महामारी के कारण सभी को समस्याओ से जूझना पड़ा था। हालाँकि अभी कोरोना का साया है लेकिन अब इस सत्र में स्कूल की सभी कक्षाएं नियमित रूप से लगाने के निर्देश प्राप्त है तो उम्मीद की जा रही है बच्चो की जो बुनियादी शिक्षा कमज़ोर हो गई थी वह अब दोबारा मजबूत हो सकेगी।



रेवाड़ी के निजी स्कूल संचालक (सीआर भारतीय स्कूल बालावास जाट) चौधरी रणबीर सिंह ने कहा कि नए सत्र के साथ विद्यालय की जिम्मेदारी भी बढ़ गई है। कोरोना का खतरा जिस तरह बरक़रार है उससे लगता है कि हमें कोरोना के साथ ही जीना पड़ेगा। विद्यालय में कोरोना गाइड लाइन का पालन किया जायेगा। स्कूल संचालक रणबीर सिंह ने कहा कि बच्चे देश का भविष्य है पिछले वर्ष शिक्षा नहीं मिलने के कारण जो नुकसान हुआ है उसका बेसिक कांसेप्ट पूरा किया जायेगा। 



उन्होंने कहा कि उनका स्कूल ग्रामीण अंचल में चल रहा है प्राइमरी शिक्षा के लिए दक्षिण भारत में चल पैटर्न पर काम काम करते हुए खेल-खेल में और कहानी के द्वारा प्रैक्टिकल रूप से छोटे बच्चो को पढ़ाया जायेगा। इसके लिए मुंबई के एजुकेशन ग्रुप से कोल्ब्रेसन हुआ है इस पद्धति पर काम करते हुए जल्द ही प्राइमरी कक्षाएं शुरू की जाएगी। इस नई पद्धति को लेकर अभिभावकों में भी खासा उत्साह है।

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें