expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Chandigarh News : मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने 2021-22 के लिए बजट पेश किया 

चंडीगढ़ : मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने विधानसभा में बतौर वित्त मंत्री शुक्रवार को विधानसभा में आम बजट पेश किया। दूसरे कार्यकाल के दौरान मनोहर लाल का यह दूसरा बजट है। प्रदेश सरकार का पूरा फोकस स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने, कृषि और किसान कल्याण योजनाओं को लागू करने पर रहा। इसके अलावा बजट का तीसरा सबसे अहम बिंदु ग्रामीण विकास है, क्योंकि प्रदेश में इसी साल पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव होने जा रहे हैं।



पिछले साल 28 फरवरी को बजट पेश किया गया था और 22 मार्च से लॉकडाउन शुरू हो गया। सरकार द्वारा विभागों को बजट अलॉट कर दिया गया लेकिन कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन के कारण कई महीने तक दफ्तर बंद रहे। विभागों में आम जन से जुड़े काम पूरी तरह से बंद हुए। सार्वजनिक परियोजनाओं पर काम पहले की तरह नहीं हुआ है। कोरोना काल के कारण हरियाणा सरकार को 12 हजार करोड़ के राजस्व की हानि हुई है। भाजपा नेता राजेन्द्र सिंह पटेल ने बजट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ये बजट प्रदेश को नई दिशा देगा और इस बजट में हर वर्ग का ध्यान रखा गया है। 
मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बतौर वित्त मंत्री शुक्रवार को बजट पेश किया। अपनी प्रतिक्रिया देते हुए रेवाडी विधायक चिरंजीव राव ने कहा कि इस बजट में अर्थव्यवस्था में सुधार एवं रोजगार पर कोई फोकस तो रहा ही नही किसानों और स्वास्थ्य सेवाओं को भी अनदेखा किया है। चिरंजीव राव ने कहा कि यह बजट झूठ का पुलिंदा हे। प्रदेश में बेरोजगारी का आलम इतना है कि आज हर घर को एक रोजगार चाहिए बावजूद इसके खट्टर साहब ने रोजगार उतपन्न करने के साधन नही बढाए। कोई नया आईएमटी नही बनाया और पहले से ही हरियाणा में से कंपनियां बाहर जाने लग रही हैं। फिर 75 प्रतिशत आरक्षण किस को देगें। उपर से आरक्षण में भी कपींग लगा दी है। उद्दोगों को आकर्षित करने के लिए सरकार के पास कोई योजना ही नही है। 




2020 का बजट था 1 लाख 42 हजार करोड़ का
पिछली बार मनोहर सरकार ने एक लाख 42 हजार करोड़ का बजट पेश किया था। पिछले बजट में दस हजार करोड़ की वृद्धि की गई थी। इस बार पेश हो रहा बजट डेढ़ लाख करोड़ से पार का है।

पेपरलेस है प्रदेश का बजट
हरियाणा विधानसभा पेपरलेसस हो रही है। शुक्रवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा टैब के माध्यम से बजट पेश किया। हालांकि इसका ट्रायल पिछले सत्र के दौरान हो चुका है लेकिन शुक्रवार को पेश होने वाले बजट में वित्तीय रिपोर्ट भी प्रिंट की बजाए सीडी के माध्यम से दी जाएंगी। विधानसभा सचिवालय द्वारा पहले ही विधायकों को लैपटॉप और टैब लेकर आने के लिए पत्र लिखा जा चुका है।

किसानों के लिए
सरकार ने कहा कि उनकी प्रदूषण मुक्त खेती की प्राथमिकता है। इसके तहत तीन साल में 1,00000 एकड़ क्षेत्र कवर होगा। नई योजना किसान मित्र शुरू हो रही है और राज्य में 1000 किसान एटीएम लगेंगे।

गरीबों के लिए
राज्य में मुख्यमंत्री अंत्योदय उत्थान अभियान 2025 तक चलाया जाएगा। अभियान का उद्देश्य है कि 2025 तक प्रदेश से गरीबी खत्म की जाए। सामाजिक सुरक्षा पेंशन 2500 रुपये की गई। अनुसूचित जाति को कानूनी मामलों की पैरवी के लिए अब सरकार 22000 रुपये देगी।

स्वास्थ्य के लिए
हरियाणा में स्वास्थ्य सुविधाएं दुरुस्त करने के लिए 350 चिकित्सा अधिकारियों और 60 डेंटिस्ट के पद किए जाएंगे सृजित। 1000 हेल्थ वेलनेस सेंटर शुरू होंगे। महाराजा अग्रसेन मेडिकल कॉलेज अग्रोहा में कैंसर इंस्टिट्यूट बनेगा। यहां पर कॉन्ट्रैक्ट पर सौ आयुष सहायकों और 22 आयुष कोच की भर्ती भी की जाएगी। कैशलेस स्वास्थ्य योजना का विस्तार होगा।

शिक्षा के लिए
सरकारी स्कूलों में 700 करोड़ से डिजिटल क्लास रूम बनाए जाएंगे। इसके साथ टैबलेट का प्रावधान होगा। 2025 तक राष्ट्रीय शिक्षा नीति को राज्य में पूरी तरह से लागू करने का लक्ष्य बनाया गया है। 1 से लेकर 3 कक्षा तक के 8400 स्कूलों के 6 लाख विद्यार्थियों को प्रारंभिक भाषा और गणितीय कौशल की शिक्षा दी जाएगी। 21962 आंगनबाड़ी में स्कूल से पूर्व शिक्षा दी जीएगी। राज्य में 1135 प्ले स्कूल शुरू होंगे। 2865 आंगनवाड़ी केंद्र प्ले स्कूल में अपग्रेड किए जाएंगे। नौवीं से बारहवीं तक के सभी बच्चों को फ्री एजुकेशन मिलेगी।

खेल के लिए
राज्य में खेलो इंडिया गेम्स 2021 के लिए तैयारी होगी। पंचकूला के ताऊ देवी लाल स्टेडियम में हॉकी, फुटबॉल, बास्केटबॉल व वॉलीबॉल के नया ग्राउंड तैयार किया जाएगा। पंचकूला में ही राज्य स्तरीय चोट उपचार पुनर्वास केंद्र स्थापित किया जाएगा। इसके अलावा चार केंद्र रोहतक, गुरुग्राम, करनाल व हिसार में भी बनेंगे।

बिजली, पानी, सड़क और सुविधाएं
SYL नहर के निर्माण में खर्च होंगे सौ करोड़ रुपये। मेवात में पेयजल की व्यव्स्था के लिए सौ क्यूसिक फीडर नहर का किया जाएगा निर्माण। पिंजौर और गुरुग्राम दोनों को फिल्म सिटी की तह विकसित किया जाएगा। हिसार, करनाल, पिंजौर और नारनौल के हवाई अड्डों पर नाइट लैंडिंग की व्यवस्था होगी। डाटा सेंटर नीति बनेगी। इको सिस्टम की स्थापना होगी। बोर्ड, निगमों और यूनिवर्सिटी में पूरी तरह से ई ऑफिस बनेंगे। 6000 सोलर एलईडी स्ट्रीट लाइट, 12 वॉट की 5000 एलईडी सोलर स्ट्रीट लाइट ओर सीसीटीवी कैमरा वाली 1000 हाईमास्ट सोलर लाइट्स भी राज्य में लगाई जाएंगी। अंबाला, करनाल, हिसार, रेवाड़ी, फरीदाबाद और गुरुग्राम में परिवहन वाहनों की फिटनेस के लिए 6 सेंटर बनेंगे।
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें