expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से बावल ब्लॉक में विरोध सम्मलेन का आयोजन किया गया

रेवाडी। कृषि के तीन काले कानूनों के विरोध में हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा प्रदेश के हर ब्लॉक में विरोध सम्मेलन किए जा रहे हैं। इसी कडी में आज बावल ब्लॉक में पूर्व मंत्री एम एल रंगा द्वारा बावल के अंबेडकर पार्क में किसान मजदूर सम्मेलन आयोजित किया गया। जिसमें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पूर्व मंत्री ने शिरकत करते हुए कहा कि जिन आंदोलन करने वाले किसानों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आंदोलनजीवी और परजीवी न जाने क्या क्या अपशब्द बोल रहे हैं। वे किसान ही पूरे देश का पेट भरते हैं और इन्हीं किसानों के बेटे दिन-रात देश की सीमाओं पर रक्षा करते हैं। उन्होंने कहा कि आंदोलन करने वालों को ऐसा बोलकर प्रधानमंत्री मोदी जी ने महात्मा गांधी जी, सरदार पटेल जी, लाला लाजपत राय इत्यादि का अपमान किया है। क्योंकि इन सभी ने देश की आजादी के लिए आंदोलन किए थे। स्वयं भाजपा के श्यामा मुखर्जी, दीनदयाल उपाध्याय और वीर शावरकर का भी अपमान किया है। ऐसा बोलकर प्रधानमंत्री ने देश के सभी किसानों का अपमान किया है। इसलिए प्रधानमंत्री मोदी जी को देश के किसानों से माफी मांगनी चाहिए। इन कृषि के काले कानूनों को भाजपा सरकार को वापिस लेना ही होगा। अंत में जितेगा किसान, जीतेगा देश और हारेगा अहंकार।



कैप्टेन अजय सिंह ने कहा कि आरएसएस की शाखाओं पर तो आज तक तिरंगा झंडा नही फहराया जाता। इनका तो ध्वज भी दूसरा है। अपनी शाखाओं में ये लोग भगवा झंडा फहराते हैं। भाजपा वालों को नही पता कि तिरंगे का सम्मान कैसे होता है। इसी कडी में कांग्रेस पार्टी आगामी 17 फरवरी बुधवार को रेवाडी में तिरंगा यात्रा निकालेगी। यह तिरंगा यात्रा प्रात 10 बजे अग्रसेन चौक से शुरू होगी। इसलिए तिरंगे के सम्मान में ज्यादा से ज्यादा संख्या में इस तिरंगा यात्रा में शामिल हों। कैप्टेन अजय सिंह ने कहा कि भाजपा की मौजूदा सरकार हम दो हमारे दो की सरकार है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह दोनों मिलकर अपने दो दोस्तों के फायदा के लिए देश को बेचने में लगे हुए हैं। यादव ने कहा कि आए दिन पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के दाम बढ रहे हैं। पिछले 7 साल से देश व प्रदेश में भाजपा की सरकार है। पिछले 7 साल में कोई भी ऐसा कार्य भाजपा ने किया हो जो जनहित में हो तो बताऐं। कभी नोटबंदी तो कभी जीएसटी तो कभी लॉकडाउन और अब कृषि के तीन काले कानून जैसे तुगलकी फरमान भाजपा सरकार जनता को थौंपने में लगी है। स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी यह माना है कि कृषि के तीन काले कानूनों को जनता को थौंपा गया है। कैप्टेन अजय सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने जय जवान, जय किसान का नारा दिया, देश में हरित क्रांति लेकर आई। किसी समय में दूसरे देश से अनाज लाया जाता था लेकिन आज के समय में हमारे देश में इतना अनाज होता है कि हम दूसरे देश से अनाज दे सकते हैं। यह सब कांग्रेस की देन है। लेकिन मौजूदा भाजपा सरकार ने 7 साल में ही आधे देश को बेच दिया। भारतीय रेलवे, एलआईसी, बीएसएनएल, ऐयरपोर्ट, बंदरगाह के अलावा लाल किला तक बेच दिया। पूर्व मंत्री एम एल रंगा ने कहा कि पूरे देश में किसान जगह-जगह इन कानूनों के खिलाफ  आंदोलनरत हैं। कांग्रेस पार्टी किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है। सरकार किसानों की मांगें मानकर इन तीनों काले कानूनों को निरस्त करे और न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी का कानून बनाए। उन्होंने कहा कि कृषि विरोधी काले कानूनों के खिलाफ  इस लडाई में एक तरफ  भाजपा सरकार और इनके चंद पूंजीपति मित्र हैं, जबकि दूसरी तरफ पूरा देश है जो 60 करोड से ज्यादा किसानों और कृषि क्षेत्र से जुडे करोडों मजदूरों के साथ खडा है। भाजपा सरकार द्वारा इस आंदोलन को कुचलने के लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। लेकिन कृषि कानूनों के विरोध में देश का किसान एकजुट है। उन्होंने कहा कि किसी भी किसान ने इन कानूनों की मांग नहीं की थी। इन कानूनों की मांग भाजपा सरकार के कुछ चुनिंदा पूंजीपति मित्रों की होगी, जो केवल मुनाफा नहीं मुनाफाखोरी करते हैं। किसानों की आमदनी दोगुनी करने का वायदा कर सरकार बनाने वाली भाजपा ने किसान की आय को कम करने के साथ ही अब इन कानूनों के जरिए उन्हें गुलाम बनाने का पूरा प्रबंध कर लिया है।

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें