expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Godda News: अनुमंडल पदाधिकारी गोड्डा को आवेदन देकर चचेरी बहनों ने पिता की संपत्ति में हिस्सा दिलाने की मांग की


ग्राम समाचार गोड्डा, ब्यूरो रिपोर्ट:- ये मामला है बेटी वीणा देवी ,पुतुल देवी और गौरी देवी की जो दादा कुंज बिहारी के बड़े पुत्र सुरेन्द्र मोहन झा महेशपुर, थाना बसंतराय जिला गोड्डा झारखंड का। इन्होंने अनुमंडलाधिकारी गोड्डा के पास 17-5-2018 को विपक्षी अपने चाचा के पुत्रों क्रमश:अशोक झा ,राजेन्द्र झा और मांगन झा पिता श्री कांत झा के खिलाफ एक परिवाद दर्ज करवा कर न्याय की गुहार लगायी है। परिवाद में यह दर्शाया गया है कि मेरे पिता दो भाई थे जिसमें मेरे पिता को कोई पुत्र नहीं हुआ, सिर्फ हम तीन बहनें उनका उत्तराधिकारी हुये, बड़ी बहन पुतुल देवी, मँझली गौरी देवी और छोटी मैं वीणा देवी। मैं वीणा देवी पति विवेकानंद झा ग्राम खरौनी,थाना बौंसी,जिला बॉंका बिहार श्री मान्  से यह गुहार लगाती हूँ कि कुल पैतृक सम्पत्ति का आधा हिस्सा जमीन को तीनों चचेरे भाईयों से मुक्त कराकर हम तीनों बहनों के नाम से अधिकृत कराने की कृपा की जाय । इस पर गोड्डा अनुमंडलाधिकारी ने 6-11-2018 को बसंतराय अंचलाधिकारी को ज्ञापांक- 445/सा. न्या. प्रेषित कर आवेदिका वीणा देवी बनाम अशोक झा के मामले में शीघ्र जॉंच कर तीन दिनों के अंदर न्यायालय में उपलब्ध कराने काा निर्देश दिया था। इस संबंध में बसंतराय अंचलाधिकारी के द्वारा 20-02-19 को पत्रांक-76 के द्वारा न्यायालय को एक जवाब प्रेषित किया जिसमें लिखा था कि इस संबंध में राजस्व कर्मचारी एवं अंचल निरी. के द्वारा जॉंच कराया गया जिसका मूल रूप से संलग्न है। जबकि सच्चाई यह है कि आवेदिका को एक साल बीतने के बाद भी जॉंच रिपोर्ट या कोई भी सूचना नहीं मिल पायी है । ज्ञााव्तय है कि यह विवाद कुल 26 बीघा 15 कट्ठा 19 धूर जमीन का है जिसमें आधा हिस्सा इन बहनों का होगा जिसपर प्रतिवादीगण अवैध रूप से अधिकार किये हुये हैं, साथ ही जान से मारने की धमकी भी देते हैं । 

अब देखना यह है कि हेमंत सोरेन की सरकार में वीणा देवी सहित तीनों बेटियों को पिता की सम्पत्ति पर अधिकार मिल पायेगी कि नहीं !!

Share on Google Plus

Editor - भुपेन्द्र कुमार चौबे

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें