expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Bihar News: श्रम संसाधन मंत्री जीवेश कुमार द्वारा भागलपुर प्रमंडल अंतर्गत संचालित विभागीय कार्यों की समीक्षा बैठक की गई

 ब्यूरो रिपोर्ट, ग्राम समाचार, पटना। दिनांक 18 जनवरी 2021 को श्रम संसाधन विभाग के मंत्री जीवेश कुमार की अध्यक्षता में भागलपुर प्रमंडल अंतर्गत संचालित विभागीय कार्यों की समीक्षात्मक बैठक, बांका जिले के परिसदन में की गई। समीक्षा के दौरान विभाग के प्रधान सचिव मिहिर कुमार सिंह, संयुक्त श्रमायुक्त वीरेंद्र कुमार, उप श्रमायुक्त भागलपुर गोविंद, उपनिदेशक नियोजन एवं प्रशिक्षण नागेश्वर प्रसाद यादव भी उपस्थित रहे। जिस में मुख्यतः बिहार संनिर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड से जुड़े निर्माण श्रमिकों से संबंधित कल्याणकारी योजनाएं यथा निबंधित 

कामगारों के लिए वार्षिक चिकित्सा सहायता, विवाह सहायता योजना, मातृत्व लाभ योजना, पितृत्व लाभ योजना, मृत्यु लाभ, भवन मरम्मत के साथ असंगठित क्षेत्र से जुड़े और निबंधित कामगारों के हितों की रक्षा पर बल दिया गया। साथ ही इनके हितार्थ भावी योजनाओं को मजबूती से क्रियान्वित किए जाने हेतु निजी निर्माण कार्यों से जुड़े कंपनियों से शेष कर वसूली करने का निर्देश मंत्री द्वारा दिया गया। साथ ही बिहार शताब्दी असंगठित कामगार एवं शिल्पकार सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत स्वाभाविक मृत्यु दुर्घटना एवं निःशक्तता होने की स्थिति में दिए जाने वाले लाभ से संबंधित जानकारी प्राप्त की गई। लॉकडाउन के दौरान जिले में लौटे प्रवासी श्रमिकों के बारे में भी जानकारी लेते हुए उनके रोजगार और 

स्वरोजगार से जोड़ने की बात मंत्री द्वारा कही गई। साथ ही उनको विभिन्न विभागों से मिले अनुदानों के बारे में भी विस्तृत जानकारी लेते हुए कहा गया कि असंगठित क्षेत्र के साथ प्रवासी मजदूरों के हितों की रक्षा करना हमारा दायित्व है। जिसे पूरा करने के लिए सरकार निरंतर कार्यरत और प्रयत्नशील है। बिहार प्रवासी मजदूर दुर्घटना अनुदान योजना के अंतर्गत दुर्घटना में मृत्यु होने पर मृत प्रवासी श्रमिक के वैद्य आश्रित को ₹100000 की राशि अनुदान के रूप में देने का प्रावधान है। इसके अतिरिक्त दुर्घटना के फलस्वरूप स्थाई पूर्ण अपंगता की स्थिति में ₹75000 एवं स्थाई आंशिक अपंगता की स्थिति में ₹37500 की राशि का भुगतान प्रवासी श्रमिक को किया जाता है। जिले में ऐसे व्यक्ति को चिन्हित कर उन्हें लाभ पहुंचाया जाए। कोरोना संक्रमण से उत्पन्न स्थिति के फलस्वरूप बिहार राज्य प्रवासी मजदूर दुर्घटना अनुदान योजना संशोधन नियमावली 2020 के द्वारा सरकार द्वारा घोषित महामारी में मृत 

प्रवासी श्रमिक को भी इस योजना से अच्छादित करने का प्रावधान किया गया है। जिसके तहत मजदूरों को सहायता दी जाए। साथ ही एप्लीकेशन फॉर्म जनरेट कर प्रत्येक प्रखंडों में कामगारों का निबंधन त्वरित गति से की जाए। अद्यतन स्थिति के अनुरूप भागलपुर जिले में कुल 35011 और बांका जिले में 29273 लोगों का निबंधन किया जा चुका है। राज्य सरकार के सात निश्चय के तहत प्रत्येक जिला मुख्यालय में एक महिला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान तथा प्रत्येक अनुमंडल में एक सामान्य औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान की स्थापना की जा चुकी है और इन जिलों में भी आईटीआई का सुचारु प्रबंधन किया जा रहा है। यह अच्छी बात है। लेकिन इस क्षेत्र में और ध्यान देने की जरूरत है। खासकर महिला 

आईटीआई पर विशेष बल दिया जाए। छात्रावास में रह रही छात्राओं की उचित देखभाल भी नितांत आवश्यक है और हम सबकी जिम्मेदारी है। कि इसका समुचित संचालन हो। बांका जिले में बन रहे महिला आईटीआई छात्रावास को जल्द बनवाए जाने का निर्देश मंत्री द्वारा दिया गया। बिहार राज्य के सभी नियोजनालयों के माध्यम से नेशनल कैरियर सर्विस प्रोजेक्ट के तहत वर्ष 2016 से नेशनल कैरियर पोर्टल पर ऑनलाइन निबंधन का कार्य किया जा रहा है। जिसका विशेष रूप से निरीक्षण और मूल्यांकन किया जाए। विदित हो कि राज्य के जॉब सीकर आवेदनों के लिए राज्य स्तरीय नियोजन पोर्टल स्थापित की जा रही है। जिस पर राज्य, देश एवं विदेश में रोजगार प्राप्ति की सूचना समेकित रूप से उपलब्ध होगी। इसकी जानकारी सभी रोजगार हेतु प्रयासरत युवाओं युवतियों को दिया जाए। राज्य में मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना के तहत संचालित कुशल 

युवा कार्यक्रम एवं अन्य योजनाओं डोमेन स्किलिंग, नियुक्ति, प्रशिक्षण एवं तैनाती, आरपीएल के साथ प्रधानमंत्री कौशल प्रशिक्षण केंद्रों की स्थापना की गई है। जिसका लाभ प्रदेश के युवाओं को मिल रहा है। जिसके सुचारू प्रबंधन और युवाओं को रोजगारपरक शिक्षा से जोड़े जाने हेतु भी आवश्यक कदम उठाए जाने का निर्देश दिया गया। राज्य में प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना 3.0 की शुरुआत किए जाने एवं जिलों में केंद्रों के बेहतर संचालन के लिए मंत्री ने आभार व्यक्त किया। जबकि बांका जिले में कुशल युवा कार्यक्रम के कुल 33 और डोमेन स्किलिंग के 12 और पीएमकेवीवाई के 6 और बी एस सी एफ ए का एक केंद्र और भागलपुर में कुशल युवा कार्यक्रम के कुल 56 और डोमेन स्किलिंग के 19 और पीएमकेवीवाई के 12 और बीएससी सी एफ ए का तीन केंद्रों का सफलतापूर्वक संचालन किया जा रहा है और जिस में बायोमेट्रिक के माध्यम से उपस्थिति दर्ज कराए जाने के बारे में जानकर मंत्री द्वारा प्रसन्नता जाहिर की गई। समीक्षा के दौरान भागलपुर और बांका जिले के श्रम अधीक्षक, जिला नियोजन पदाधिकारी एवं संबंधित अधिकारी सहित आईटीआई के प्राचार्य एवं कौशल विकास केंद्र के डीएसएम आदि भी उपस्थित थे। 

कुमार चंदन, ग्राम समाचार संवाददाता, बौंसी।

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें