expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Godda News:video- गांव के सहमति लिए बगैर ईसीएल द्वारा दूसरे गांव को बसाने से हीजुकीता ग्रामीणों ने निर्माण कार्य पर लगाई रोक, प्रबंधन द्वारा जबरन जमीन लेने का प्रयास


ग्राम समाचार, बोआरीजोर(गोड्डा)। हीजुकीता मौजा के जमीन में ईसीएल के द्वारा दादागिरी कर दूसरी गांव को बसाने के लिए अवैध तरीके से ज़मीन अधिग्रहण करने से ग्रामीण आक्रोशित होकर काम को बाधित किये।

ग्रामीणों ने बताया कि ईसीएल मैनेजमेंट इसी तरह पूर्व में भी चार बार जबरन हीजुकीता मौजा में बुलडोजर गाड़ी चलाने आये थे। उस समय भी हीजुकीता ग्रामीणों ने विरोध कर मैनेजमेंट के कार्य को बाधित कर वापस किये थे। हीजुकीता ग्रामीणों का कहना है कि जमीन में किसी का नौकरी तो किसी का मुआवजा अबतक ग्रामीणों को नहीं मिल सका है, ओर ना ही यहां के बेरोजगारी ग्रामीणों को रोजगार दिया गया। ग्रामीणों ने कहा है कि ईसीएल मैनेजमेंट के साथ इस मामले को लेकर हीजुकीता रैयतों के साथ बैठक 6 दिसम्बर रविवार को वार्ता होने ही वाला था, लेकिन मैनेजमेंट ने हीजुकीता रैयतों के बिना सहमति लिए ही एक दिन पुर्व ही शनिवार को बुलडोजर गाड़ी चलाने का काम किया जिसे ग्रामीण उग्रआक्रोशित हो गए। ग्रामीणों का आरोप है कि 1981 में हीजुकीता गांव को ईसीएल प्रबंधक द्वारा दुसरे जगह विस्थापित किया जाना था। बरहाल 1981 से आज तक उनचालीस साल बीत जाने के बाद भी मैनेजमेंट और ग्रामीणों के साथ गांव को दुसरे जगह शिफ्ट करने को लेकर मैनेजमेंट के साथ कई बार वार्ता किया गया कि गांव को दुसरे जगह शिप्ट किया जाय, लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण की बात तो यह है कि आज तक हीजुकीता गांव का विस्थापित नहीं किया जा सका। अब मैनेजमेंट फिर से हीजुकीता मौजा के जमीन में दूसरे गांव को बसाने का काम कर रहे है। मालूम हो कि ईसीएल प्रबंधन द्वारा बसडीहा गांव को हीजुकीता मौजा में बसाया जायेगा। जिसे ग्रामीण आक्रोशित होकर मैनेजमेंट द्वारा जबरन बुलडोजर चला रहे कार्य को रोक दिये।

मिली सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि हीजुकीता मौजा के जमीन 1981 में सीबी एक्ट के तहत जमीन अधिग्रहण की चुकी है। रैयतों द्वारा जमीन वापसी को लेकर भी लगातार ग्रामीण विरोध भी किए थे लेकिन मैनेजमेंट के दोहरे नीति की वजह से सीबी एक्ट यानि कोल बैरिंग एक्ट में अधिग्रहण जमीन को कोयला खनन के पश्चात हीजुकीता रैयतों को अब तक जमीन वापस नहीं किया जिससे ग्रामीण ठगा महसूस कर रहे है। वही कार्य बाधित होने के बाद इस मामले को लेकर ईसीएल पदाधिकारी और ग्रामीणों के बीच हीजुकीता में बैठक किया गया, लेकिन बैठक मे कोई ठोस सहमति नहीं बन सकी। बैठक में एसीएल अधिकारी आरएन झा,धीबर साहब एंव ग्रामीण बीगनेसर महतो,संजय महतो,अर्जुन महतो,रामसुंदर महतो,डोमन महतो इत्यादि ग्रामीणों मौजूद रहे।

            .                              -ग्राम समाचार, बोआरीजोर(गोड्डा)।

Share on Google Plus

Editor - विलियम मरांड़ी।

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें