expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Bounsi News: मंदार महोत्सव की तैयारी को लेकर स्थानीय लोगों में दौड़ी खुशी की लहर

 ग्राम समाचार,बौंसी,बांका। विश्व प्रसिद्ध मंदार महोत्सव सह बौसी मेला के तैयारी के साथ पापहरणी मेला की तैयारी की कवायद शुरू हो गई है। समाहरणालय बांका के राजस्व शाखा द्वारा पर्यटन विभाग के निर्देश पर आपातकालीन निविदा  निकाली जा रही है। ताकि भाड़े पर सामग्री प्राप्त हो सके। प्राप्त जानकारी के अनुसार पर्यटन विभाग बिहार, पटना एवं जिला प्रशासन बांका के संयुक्त तत्वावधान में इच्छुक आपूर्तिकर्ता से लेकर इवेंट मैनेजमेंट कंपनी, गैर सरकारी संस्थान, सरकारी संस्थान आदि को मिलाकर मंदार महोत्सव 2021 बौसी और पापहरणी मेला का आयोजन 14 से 16 जनवरी के लिए निविदा आमंत्रित की जाएगी। पत्र के अनुसार बताया गया कि निविदा दाता वित्तीय निविदा एवं तकनीकी निविदा के रूप में अलग-अलग दो भागों में शील्ड निविदा के माध्यम से निविदा प्रक्रिया में भाग ले सकते हैं।

 


 निविदा दाता के पास बिहार राज्य का जीएसटी रजिस्ट्रेशन, पैन कार्ड, जीएसटी रिटर्न, इनकम टैक्स रिटर्न 3 साल का होना अनिवार्य है। साथ ही ₹25000 का बैंक ड्राफ्ट जिला पदाधिकारी बांका के पदनाम से जमानत के रूप में जमा करना अनिवार्य होगा। यह भी बताया गया की ब्लैक लिस्टेड निविदा का काम को इसमें शामिल नहीं किया जाएगा। समाहरणालय बांका में 24 दिसंबर को अपराहन 4:00 बजे निविदा खोली जाएगी। जिसमें प्राधिकृत प्रतिनिधि के माध्यम से निविदा दाता स्वयं भाग ले सकेंगे। वहीं दूसरी ओर मंदार महोत्सव में कराए जाने वाले कार्य का भी ब्यौरा दिया गया है। जिसमें मुख्य रुप से बौसी मेला मैदान के संपूर्ण महोत्सव क्षेत्र सभी सेक्टर, स्टॉल में वायरिंग एवं विद्युत उपकरणों का मरम्मती कार्य, महोत्सव क्षेत्र की साफ सफाई, समतलीकरण, सफाई की मुकम्मल व्यवस्था तथा 15 बड़े कूड़ेदान को उपलब्ध कराना, बांस की संरचना एवं कपड़े की सीलिंग के साथ-साथ लोहा अथवा लकड़ी के फ्रेम पर थीमेटिक फ्लेक्स फेसिया का डिजाइन, मीडिया सेंटर का निर्माण, हेल्प डेस्क सेंटर का निर्माण, नियंत्रण कक्ष, कार्यक्रम के उद्घाटन एवं समापन समारोह के अवसर पर दीप स्टैंड, रिबन, फूलों का बुके, मोमबत्ती, थेमेटिक  मोमेंटो, शॉल की व्यवस्था करना, स्टेज निर्माण के अलावा साउंड सिस्टम, 125 केवीए का जरनेटर, एलइडी स्क्रीन, फोटोग्राफी, वीडियोग्राफी, कृषि प्रदर्शनी स्थल एवं हैंगर के बीच वाले भाग में कारपेटिंग, बांस बल्ले की बेरीकेटिंग, कामधेनु मंदिर एवं मधुसूदन मंदिर में बिजली के रंगीन झालरों से डेकोरेशन, 20 सीसीटीवी कैमरा, मंदार पर्वत पर जाने वाली सीडीओ को सतरंगी रंगों से रंगना, वॉच टावर, मंदार पर्वत पर शार्पी लाइट, हिलियम बैलून, पाप हरणी सरोवर में रस्सी की बेरीकेटिंग, बिजली, चेंजिंग रूम, तोरण द्वार सहित अन्य कई कार्य किए जाएंगे। वहीं दूसरी ओर मंदार महोत्सव 2021 की तैयारी की खबर जब स्थानीय लोगों के बीच गई तो लोगों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी और लोगों की उम्मीदें जगी।

 


 मालूम हो कि बौसी मेला लगने से सैकड़ों लोगों के जीविकोपार्जन का माध्यम यह मंदार महोत्सव है। प्रखंड, जिले के अलावा देश के विभिन्न राज्यों से खेल तमाशा वाले व अन्य दुकानदार मंदार महोत्सव सह बौसी मेला पहुंच कर, अपनी दुकानदारी करते हैं। सरकार को भी इस वजह से अच्छी खासी राजस्व की प्राप्ति होती है। बौसी मेला मंदार महोत्सव का इंतजार लोग साल भर करते हैं। इस मेले में लोग अपनी जरूरत के अनुसार भिन्न-भिन्न सामग्री की खरीदारी भी करते हैं। वहीं कृषि प्रदर्शनी का कार्य आरंभ नहीं होने से इस वर्ष प्रदर्शनी परिसर खाली खाली सा रहेगा। वैसे तो सितंबर के अंतिम सप्ताह से ही यहां का कार्य आरंभ हो जाता था। परंतु इस करोना काल की वजह से सारी परेशानियां उत्पन्न हुई है। वैसे तो माना जाए कि बौसी मेला का आकर्षक का केंद्र कृषि प्रदर्शनी ही होता है। वहीं दूसरी ओर प्रशासन के द्वारा सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। थानाध्यक्ष राज किशोर सिंह ने बताया कि, जिला प्रशासन के निर्देश पर फिलहाल 5 होमगार्ड की तैनाती पुलिस पिकेट में कर दी गई है। थानाध्यक्ष ने यह भी बताया कि, गश्ती वाहन लगातार यहां पर आकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेती रहेगी। उम्मीद है कि, इस बार मंदार महोत्सव का नजारा कुछ अनोखा ही  होगा।

कुमार चन्दन, ग्राम समाचार संवाददाता,बौंसी।

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें