expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Pathargama News: पथरगामा के बड़ी दुर्गा मंदिर परिसर बना कुड़ादान




ग्राम समाचार, पथरगामाः- हिंदुओं का महापर्व शारदीय नवरात्रा अर्थात दुर्गा पूजा सामने खड़ा होकर लोगों के दिल में भक्ति भाव का संचार करने लगा है।दुर्गा पूजा की तैयारी जोर शोर से हो रही है।लोग घरों की साफ-सफाई में जुट गए हैं।खुद को पवित्र करने के लिए गंगा स्नान में जुटे हुए हैं।परंतु सबसे बड़ी हैरत की बात तो यह है कि पथरगामा के बड़ी दुर्गा मंदिर परिसर पथरगामा का कूड़ा दान बनकर रह गया है।दुर्गा पूजा को लेकर लोग घर को साफ कर घर का कचरा दुर्गा मंदिर परिसर में फेंक देते हैं।कूड़ा कचरा फेंके जाने के चलते मंदिर परिसर का आधा भाग कचरे के भंडार के रूप में तब्दील हो गया है।यहां यह कहने में अतिशयोक्ति नहीं होगी कि लोग उसी के घर को गंदा कर रहे हैं जिसके पूजा आराधना के लिए लोग अपने घरों को साफ कर रहे हैं।दुर्गा पूजा मंदिर कमेटी वालों के द्वारा प्रत्येक वर्ष यहां फेंके गए कूड़ा कचरा की सफाई की जाती है।मेले का आयोजन होता है।परंतु इस बार कोविड-19 संकट को लेकर मां दुर्गे की पूजा करना, प्रसाद वितरण करना अथवा मेला लगाने पर ग्रहण के बादल मंडरा गए हैं।इस बार मंदिर परिसर की साफ सफाई करवाई जाएगी या नहीं अभी अनिर्णय के दौर में है बावजूद लोगों द्वारा कूड़ा कचरा फेंके जाने का क्रम लगातार जारी है।कूड़ा कचरा फेंके जाने के चलते अगल बगल का वातावरण काफी रोगाणु युक्त और अस्वच्छ हो गया है। वातावरण में दुर्गंध पसरा रहता है।उसी मंदिर परिसर में अब रोजाना सब्जी की मंडी लगती है।सब्जी लेने आने वाले लोग नाक पर रुमाल डालकर इस होकर गुजरते हैं।सबसे अशोभनीय बात तो यह है कि जिस जगह कूड़ा फेंका जाता है उसी जगह पर लोग अपना मल मूत्र भी त्याग करते हैं।

    -:अमन राज, पथरगामा:-

Share on Google Plus

Editor - भुपेन्द्र कुमार चौबे

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें