expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : गाय के नाम पर बीजेपी करती है राजनीति : रजवन्त डहीनवाल



इनेलो प्रदेश प्रवक्ता एडवोकेट रजवन्त सिंह डहीनवाल ने रेवाड़ी जिला प्रशासन की लापरवाही पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि हर रोज कोई न कोई हादसा सड़को व गलियों में घूमते व लड़ते बेसहारा गौवंश द्वारा किया जाता है जिसका बड़ा भुगतान आम जनता को करना पड़ रहा ! रेवाड़ी जिले में सांडों की टक्कर से 2 मौत हो चुकी हैं व काफी लोग घायल हो चुके है। उसके बावजूद भी प्रशासन की कार्यशैली में किसी प्रकार का कोई बदलाव नहीं आया है । गली मोहल्ले में शहर की सड़कों पर आज भी गौवंशो को लड़ते देखा जा सकता है । रोजाना वंशों गौशाला में भेजने का दावा अखबारों के माध्यम से किया तो जाता है लेकिन धरातल पर सच्चाई कुछ और ही नजर आती है! इससे पहले भी कैटल फ्री होने का दावा किया जाता रहा हैं लेकिन वो दावा हवा हवाई हो गए! शायद इतने हादसों के बाद भी प्रशासन का ढीला रवैया आमजन की सेहत व स्वयं संबंधित अधिकारियों की सेहत के लिए सही नही है! इनेलो प्रवक्ता ने कहा की बीजेपी सरकार राष्ट्रीय कामधेनु योजना की बात करती है । जिसके लिए लभगभ 750 करोड़ का बजट भी निर्धारित किया जाता है और हरियाणा में  गौसेवा आयोग के लिए बजट 50 करोड़ निर्धारित किया जाता व प्रदेश में लगभग 650 गौशाला होने के बावजूद भी अगर गौवंश सड़को पर मोहल्ले में  व बाजारों में घूमती है जिनकी हालात बाद से बदतर हो रही हैं! एडवोकेट डहीनवाल ने कहा कि रेवाड़ी जिला उपायुक्त द्वारा  भविष्य में इस तरह की लापरवाही के जिम्मेदार एजेंसी व नगर परिषद के अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने चेतावनी देने से कोई फ़ायदा नही बल्कि तुरंत प्रभाव से कार्य मे लापरवाही बरतने वालो के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए ! ताकि कोई भी सम्बंधित अधिकारी व एजेंसी काम मे कोताही न बरतें जिससे किसी प्रकार की बड़ी अनहोनी घटना से बचा जा सके!

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें