expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : गौवंश के कारण अब कोई घटना हुई तो एजेंसी के साथ नप अधिकारियों पर भी होगी FIR दर्ज

उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने कहा कि गौवंश के कारण शहर में अब कोई घटना हुई तो एजेंसी के साथ-साथ कार्यकारी अधिकारी नगर परिषद व नगर पालिका सचिव का नाम भी एफआईआर में शामिल किया जाएगा। वे आज जिला सचिवालय में शहर व गांवों में आवारा घूमने वाले पशुओं के बारे में समीक्षा बैठक कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि शहर को स्ट्रे कैटल फ्री करने के लिए नगर परिषद व पशुपालन विभाग द्वारा बनाई गई कमेटियां प्लान बनाएं तथा आवारा पशुओं को रखने के लिए जगह भी तुरंत प्रभाव से चिन्हित करें। उन्होंने कहा कि शहर व गांवों को स्ट्रे कैटल फ्री करना है। इसके लिए जिला के गांवों में जगह का चयन करें। बैठक में कार्यकारी अधिकारी नप ने बताया कि 450 आवारा पशुओं को पकडक़र धारूहेड़ा स्थित गौशाला में भेजा गया है। लेकिन इस जवाब से डीसी संतुष्टï नहीं हुए तथा उन्हें स्पष्टï कहा कि जितने पशु नगर परिषद ने पकड़े हैं उससे ज्यादा तो सडक़ पर आवारा घूम रहें हैं। इसके स्थाई समाधान के लिए दो दिन के अंदर-अंदर प्लान बनाकर कार्य करें।

गौशाला रेवाड़ी के प्रदीप डागर ने बैठक में बताया कि गौवंश को पकडऩे व रखने के लिए समाज व सामाजिक संस्थाओं को जोड़ा जाए। उन्होंन यह भी कहा कि पावटी गांव में 500 एकड़ के लगभग जमीन है। उनमें से 20 एकड़ जमीन पर गौवंश रखने की सुविधा करके 15 हजार गौवंश को उसमें रखा जा सकता है। गौशाला नंगलिया के प्रभारी दयाराम आर्य ने कहा कि टींट, पाली व गोठड़ा की पंचायती जमीन पर आवारा गौवंश को पकडक़र रखा जा सकता है। उन्होंने कहा कि लोगों को भी आवारा पशुओं को इन गौशालाओं में छोडऩे की छूट दी जाए। इसके लिए सोसायटी बनें और समाज के लोगों को जोड़ा जाए।

पशुपालन उपमंडल अधिकारी डा. राजबीर ने उपायुक्त को बताया कि इन गौशालओं में पशुओं के इलाज व पशुचारा के लिए मशीन विभाग द्वारा उपलब्ध करा दी जाएगी। 

इस अवसर पर एडीसी राहुल हुड्ड, एसडीएम बावल मनोज कुमार, डीएसपी मोहम्मद जमाल, कार्यकारी अधिकारी नप डा. विजयपाल, सचिव नगर पालिका बावल व धारूहेड़ा समयपाल, सीएसआई संदीप, डहीना के बीडीपीओ कार्यालय के समशेर सिंह, रेवाड़ी से संदीप कुमार, खोल से पवन कुमार उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें