expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Pakur News: पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के निधन पर नगर परिषद,पाकुङ कार्यालय में शोक सभा कर प्रणव दा को दी गई श्रद्धांजलि।


ग्राम समाचार, पाकुड़ ब्यूरो रिपोर्ट:- नगर परिषद पाकुड़ के सभागार में भारत रत्न पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के निधन पर नगर परिषद पाकुड़ के द्वारा सामाजिक दूरी का पालन करते हुए शोक सभा का आयोजन किया गया।शोक सभा में नगर परिषद अध्यक्ष श्रीमती सम्पा साहा,नगर प्रबंधक श्री मृत्युन्जय पाण्डेय सभी वार्ड पार्षद एवं कर्मियों ने 2 मिनट का मौन रखकर प्रणव दा को श्रद्धांजलि अर्पित किया एवं अपनी अपनी शोक संवेदनाएं अर्पित की। शोक सभा में नगर परिषद की अध्यक्षा श्रीमती सम्पा साहा ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी का निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है।श्रीमती साहा ने कहा पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न प्रणव मुखर्जी के निधन के बारे में सुनकर हृदय को आघात पहुंचा।उनका देहावसान एक युग की समाप्ति है। श्री मुखर्जी के परिवार के प्रति मैं गहन शोक-संवेदना व्यक्त करती हूं। उन्होंने कहा "असाधारण" विवेक के धनी भारत रत्न श्री मुखर्जी के व्यक्तित्व में परंपरा और आधुनिकता का अनूठा संगम था।पांच दशक के अपने शानदार सार्वजनिक जीवन में अनेकों उच्च पदों पर आसीन रहते हुए भी वे सदैव जमीन से जुड़े रहे।अपने सौम्य और मिलनसार स्वभाव के कारण राजनीतिक क्षेत्र में वे सर्वप्रिय थे। भारत के प्रथम नागरिक के रूप में उन्होंने लोगों के साथ जुड़ने और राष्ट्रपति भवन से लोगों की निकटता बढ़ाने के सजग प्रयास किए।उन्होंने राष्ट्रपति भवन का द्वार जनता के लिए खोल दिया।राष्ट्रपति के लिए "महामहिम" शब्द का प्रचलन समाप्त करने का उनका निर्णय ऐतिहासिक है। उनके निधन से दु:ख पहुंचा है और उनके निधन से देश में एक ऐसे राजनेता को खो दिया है,जिन्होंने अपना राजनीतिक जीवन एक सामान्य व्यक्ति के तौर पर शुरू किया था और वह कठिन परिश्रम अनुशासन और प्रतिबद्धता से देश के शीर्ष संवैधानिक पद तक पहुंचे थे। अपने लंबे और विशिष्ट सार्वजनिक जीवन में उन्होंने प्रत्येक पद को गौरवान्वित किया और हर पद की गरिमा बनाए रखी।शोक संपत परिजनों के प्रति मेरी संवेदनाएं।शोक सभा में वार्ड पार्षद अशोक प्रसाद,राणा ओझा,अजय दास,नुरूल हक अनुसार,स्वीटी दास,पूनम देवी,स्माइल हक,उज्जवल हाड़ी,रियाज अंसारी,कुतुबुद्दीन अंसारी,अंजना राउत,कृष्णा शर्मा,प्रधान सहायक देवाशीष बर्मन,एजाजुल हक इत्यादि उपस्थित थे।

Share on Google Plus

Editor - रंजीत भगत, पाकुड़

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें