expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

GoddaNews: उपायुक्त ने जिला स्तरीय स्टेयरिंग सह मानिटरिंग कमिटी की बैठक की



ग्राम समाचार गोड्डा, ब्यूरो रिपोर्ट:-   उपायुक्त गोड्डा भोर सिंह यादव की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिला स्तरीय स्टेयरिंग सह मॉनिटरिंग कमिटी की बैठक आहूत की गई। बैठक में उपाायुक्त के द्वारा ई -विद्या वाहिनी, ज्ञानोदय, स्कूलों में भवन निर्माण, स्कूली बच्चों की पोशाक वितरण, कस्तूरबा विद्यालय मे नामांकन के संबंध में एवं अन्य योजनाओं की बिंदुवार समीक्षा की गई। उपायुक्त के द्वारा बताया गया कि जिले में शिक्षा के स्तर में सुधार लाने के लिए जिले के शिक्षकों को ऑनलाइन ट्रेनिंग के माध्यम से शिक्षित कर उन्हें दक्ष बनाया जाएगा ताकि स्कूलों में पढ़ाई के स्तर में सुधार लाकर छात्र एवं छात्राओं को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान की जा सके। उन्होंने जिले में मॉडल स्कूल के संचालन हेतु विचार विमर्श करते हुए कहा कि जिले में जल्द से जल्द मॉडल स्कूल का निर्माण किए जाने की योजना है इसके लिए संबंधित पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए। उपायुक्त  के द्वारा जिले में कस्तूरबा विद्यालय में नामांकन एवं स्कूलों के संचालन व साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने की बात कही गई उन्होंने कस्तूरबा गांधी के नामांकन संबंधित अहर्ता की जांच के लिए संबंधित प्रखंड के अंचलाधिकारी को निर्देश दिए कि जांच कर रिपोर्ट जिला कार्यालय में उपलब्ध कराए जाएं ताकि जल्द से जल्द नामांकन प्रक्रिया पूर्ण की जा सके। उपायुक्त के द्वारा निदेश दिए गए कि जिले में वैसे स्कूलों में जहां भवनहीन विद्यालय हैं भवन निर्माण हेतु प्रस्ताव दी जाए साथ ही साथ उन्होंने बताया कि वैसे स्कूलों में भवन निर्माण जो अब तक नहीं पूर्ण कराए गए हैं एवं पैसे की निकासी संबंधित शिक्षकों एवं समिति के द्वारा कर ली गई है।उपायुक्त  के द्वारा सख्त निर्देश दिए गए कि 15 दिनों के अंदर पैसे की वापसी की जाए अन्यथा वैसे शिक्षकों एवं समितियों के विरुद्ध विधि सम्मत कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उपायुक्त के द्वारा बताया गया कि जिले के ऐसे सभी स्कूल जिसमें जाने आने का रास्ता नहीं है उनकी सूची प्राप्त कर लिया गया है। जेई एवं संबंधित अभियंताओं को उसका प्राक्कलन तैयार करने हेतु निदेशित किए गए हैं ताकि जिले के वैसे स्कूलों में छात्र एवं छात्राओं को जाने आने के रास्ते में कोई कठिनाइयों का सामना ना करना पड़े । उपायुक्त के द्वारा ज्ञानोदय की समीक्षा के क्रम में इकोवेशन के अधिकारियों को शिक्षा के स्तर में सुधार लाने एवं गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दिलाने हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए महोदय के द्वारा बताया गया कि जिले में विभिन्न विद्यालयों में किचन शेड निर्माण हेतु राशि निर्गत की जा चुकी है फिर भी अभी तक निर्माण कार्य पूर्ण नहीं किया गया है उसे यथा शीघ्र पूर्ण की जाए इस कार्य में कनीय अभियंता सर्व शिक्षा अभियान अपने-अपने प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी को आवश्यक सहयोग प्रदान करें।समीक्षा के क्रम में उपायुक्त के द्वारा बताया गया कि मध्यान भोजन के वितरण पर आवश्यक जांच संबंधित पदाधिकारियों के द्वारा की जाए एवं सभी विद्यालयों में किचन गार्डन को दुरुस्त किए जाएं। जिले में पोशाक वितरण से संबंधित पदाधिकारियों को निर्देश दिए गए कि स्कूलों में छात्र एवं छात्राओं के पोशाक वितरण में सब के साइज को टैग करते हुए कक्षावार वितरण किए जाएं। महोदय के द्वारा जिले में नगर परिषद के अंतर्गत कराए जा रहे स्कूलों में चापाकल के निर्माण एवं मरम्मती पर विशेष ध्यान देने के लिए कहा गया। समीक्षा के क्रम में एडीपीओ के द्वारा बताया गया कि DIGI SATH के 21 वें सप्ताह में भाग लेने वाले बच्चों की संख्या बढ़कर 25% हो गई है जो राज्य में चौथा स्थान है उन्होंने बताया कि इस बार जिला स्तर से सभी सीआरपी को संपर्क किया गया ताकि क्वीज में बच्चों का पार्टिसिपेशन अधिकतम हो। साथ -ई- प्रोजेक्ट के राज्य प्रतिनिधि  विवेक कुमार ने साझा किया कि क्विज़ में भाग लेने के लिए शिक्षक को एक सप्ताह में कम से कम 10 बच्चों से फोन पर बातचीत करनी चाहिए और उन्हें क्विज़ में भाग लेने के लिए प्रेरित करना चाहिए।

राज्य सरकार जल्द ही DIKSHA पोर्टल लॉन्च करने जा रही है, जहाँ शिक्षकों को इस पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जाएगा। सभी शिक्षकों को DIKSHA पोर्टल पर Diksha.gov.in के माध्यम से अपना प्रोफाइल पंजीकृत करना होगा। सभी शिक्षकों को पोर्टल के लॉन्च से पहले दीक्षा ऐप डाउनलोड करने और खुद को पंजीकृत करने का निर्देश दिया गया साथ ही साथ DIGI SATH की ऑनलाइन कक्षाओं में बच्चों की भागीदारी बढ़ाने के भी निर्देश दिए।

विवेक कुमार ने यह भी साझा किया कि शैडो जोन और नेटवर्क कनेक्टिविटी समस्या के कारण लगभग 150 से अधिक स्कूल चुनौतियों का सामना कर रहे हैं। उसके लिए शिक्षा विभाग को शैडो जोन ,क्षेत्र की सूची प्रस्तुत करने का निर्देश दिया और बच्चे मोबाइल वैन के माध्यम से सामग्री देख सकेंगे।

उप विकास आयुक्त अंजलि यादव के द्वारा स्कूलों में शिक्षा के स्तर में सुधार एवं शौचालय के निर्माण पर संबंधित पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा -निर्देश दिए गए साथ ही उन्होंने विधि शाखा से संबंधित पेंडिंग पड़े मामले नए विधि शाखा प्रभारी के साथ समन्वय स्थापित करते हुए यथाशीघ्र हल करने के लिए निदेशित किया। 

मौके पर नगर परिषद अध्यक्ष जीतेंद्र कुमार मंडल, सिविल सर्जन गोड्डा शिव प्रसाद मिश्रा, जिला शिक्षा अधीक्षक फुलमणी खलको, एडीपीओ शंभू दत्त मिश्रा, पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल कार्यपालक अभियंता अरुण कुमार सिंह ,नीति आयोग के कोषांग प्रभारी संतोष कुमार, अदानी फाउंडेशन के अधिकारी एवं इकोवेशन फाउंडेशन के अधिकारी, जिला शिक्षा प्रसार पदाधिकारी एवं अन्य वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मौजूद थे।




Share on Google Plus

Editor - भुपेन्द्र कुमार चौबे

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें