expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : नाई वाली चौक स्थित सब्जी मंडी में सफाई व्यवस्था चरमराई, सब्जी मंडी में समस्याओ का अम्बार

रेवाड़ी शहर के नाई वाली चौक स्थित सब्जी मंडी में सफाई व्यवस्था पूरी तरह चरमराई हुई है. यहाँ जगह जगह गंदगी के ढेर लगे हुए हैं. मंडी में रखे डस्टबीन कचरे से लबालब भरे हुए हैं लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है. नाई वाली चौक स्थित सब्जी मंडी बिठवाना मंडी में शिफ्ट होने के बाद यह मंडी अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रही है. लेकिन न तो मार्किट कमेटी और न प्रशासन का इस ओर कोई ध्यान है. इन तस्वीरों को देखने के बाद आप स्वयम ही अंदाजा लगा सकते हैं कि पीएम मोदी का स्वच्छ भारत अभियान का सपना रेवाड़ी में कितना साकार हो रहा है. इतना ही नहीं मंडी में सफाई व्यवस्था के साथ अव्यवस्थाओ का बोलबाला है मंडी की सुरक्षा में लगाए गए लोहे के भारी भरकम गेट टूटे पड़े हैं जो दीवार के सहारे खड़े किए हुए हैं इनके गिरने के कारण हादसों का अंदेशा बना रहता है. इसके अलावा स्ट्रीट लाईट का पोल पिछले एक साल से टूटकर गिरने की कगार पर है जो मात्र केबल की तारो पर रुका हुआ है जो कभी भी गिरकर किसी बड़ी घटना को अंजाम दे सकता है. इन तस्वीरों को देखकर लगता है कि मार्किट कमेटी को किसी हादसे का इंतजार है. वहीं इस बारे में जब हमने मार्किट कमेटी के सचिव सत्यप्रकाश यादव से बात की तो उन्होंने कहा कि मंडी की सफाई व्यवस्था की प्रतिदिन मोनिटरिंग की जाती है दो जगह सब्जी मंडी होने से थोड़ी परेशानी होना स्वाभाविक है सफ़ाई हर रोज करवाई जाती है अगर कोई कमी है तो उसे ठीक करवाया जाएगा. टूटे हुए लोहे के गेट पर बोलते हुए कहा कि मंडी में एक कर्मचारी की नियुक्ति की गई है जो इसका ध्यान रखता है इसके अलावा टूटे हुए स्ट्रीट लाईट के पोल के सवाल पर कहा कि यह उनके संज्ञान में नहीं है अगर ऐसा है तो बिजली बोर्ड के एसडीओ से अस्तिमेट बनवाकर उस पोल को भी ठीक करवाया जाएगा. सवाल यह है कि प्रतिदिन सफ़ाई होती तो इतना कुड़ा कचरा कैसे होता. यहाँ हम आपको बता दें कि कोरोना के चलते 01 मई को नाई वाली सब्जी मंडी को बिठवाना मंडी में स्थानांतरित किया गया था तब से यह मंडी उपेक्षा का शिकार बनी हुई है.

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें