expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : गौरवमयी ढंग से मनाया गया आजादी का 74वां पर्व, राज्यमंत्री ओम प्रकाश यादव नेे किया ध्वजारोहण, परेड व मार्च पास्ट की ली सलामी


रेवाड़ी के राव तुलाराम स्टेडियम में शनिवार को आजादी का 74वां पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस मौके पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री ओम प्रकाश यादव ने राष्ट्रीय ध्वजारोहण किया और परेड की सलामी ली तथा देश के ज्ञात-अज्ञात शहीदों व स्वतंत्रता सेनानियों को नमन किया। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री ओम प्रकाश यादव ने अपने उद्बोधन में कहा कि रेवाड़ी की ऐतिहासिक धरा पर तिरंगा फहराकर मुझे बड़े गर्व एवं खुशी का अनुभव हो रहा है। देश की आजादी के लिए अपने प्राणों को न्योछावर करने वाले सभी ज्ञात व अज्ञात शहीदों को नमन करते हुए उन बहादुर सैनिकों को भी सलाम करता हूँ, जिन्होंने आजादी के बाद देश की एकता व अखण्डता और सीमाओं की रक्षा के लिए अपने प्राण न्योछावर कर दिए। आज उन्हीं के बलिदानों के कारण हम आजादी की खुली हवा में सांस ले रहे हैं। आजादी की लड़ाई में हरियाणा का अहम योगदान रहा है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सन् 1857 की क्रांति सबसे पहले अम्बाला छावनी से ही शुरू हुई थी। आजादी के बाद देश की सरहदों की रक्षा के लिए शहादत देने में भी हरियाणा के वीर हमेशा आगे रहे हैं। आज भी हमारी सशस्त्र सेनाओं में औसतन हर दसवां जवान हरियाणा से है।

उन्होंने कहा कि आजादी को वह पंछी महसूस कर सकता है जो बरसों से पिंजरे में कैद है। खुलकर जीने का नाम आजादी है। इस बार का स्वतंत्रता दिवस हम कोविड-19 जैसी महामारी के साये में मना रहे हैं। इस महामारी ने पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया है और एक दौर तो ऐसा भी आया जब अपने-आपको महाशक्ति बताने वाले देश भी इसके सामने लाचार नजर आए। परंतु प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के ऊर्जावान व गतिशील नेतृत्व में भारत ने धैर्य और संयम से काम लिया और इस महामारी का डटकर मुकाबला किया। यही कारण है कि भारत में इसके संक्रमितों की मृत्यु-दर पश्चिमी देशों के मुकाबले बेहद कम है और रिकवरी दर भी लगातार बढ़ रही है। हरियाणा में तो रिकवरी दर 83 प्रतिशत से भी अधिक हो गई है। देश के असंख्य डॉक्टरों, नर्सों, पैरा-मेडिकल स्टाफ, पुलिस कर्मचारियों, सफाई कर्मचारियों, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं आदि ने कोरोना योद्धा के रूप में मानवता की महान सेवा की है। उनमें से कुछ आज यहां उपस्थित हैं। मैं उन सबका अभिनंदन करता हूं। आप सभी को ज्ञात है कि अभी तक इस महामारी का कोई इलाज नहीं मिला है। इसलिए सावधानी में ही सुरक्षा है। सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क व सेनेटाइजर जैसी चीजों को अपनी आदत में शामिल करके हम नि:संदेह इस अदृश्य दुश्मन को हराने में कामयाब होंगे। मंत्री ने कहा कि कोविड-19 आईसोलेशन वार्ड, आईसीयू लैब इत्यादि में काम कर रहे सभी सरकारी व निजी डॉक्टरों को 50 लाख रुपये, नर्सों को 30 लाख रुपये, पैरा-मैडिकल स्टाफ को 20 लाख रुपये तथा चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को 10 लाख रुपये का एक्सग्रेसिया कवर देने का निर्णय लिया गया है। कोरोना से लड़ रहे डाक्टरों, नर्सों, पैरा मेडिकल स्टॉफ और अन्य स्टाफ  का वेतन दुगुना किया गया है। इसके अलावा, मुख्यमंत्री मुफ्त इलाज योजना के तहत प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में कई तरह की सेवाएं मुफ्त प्रदान की जा रही हैं।
राज्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार ने पिछले लगभग सवा छ: सालों में कई ऐतिहासिक फैसले लिए हैं। इससे दुनियाभर में भारत का गौरव बढ़ा है। केन्द्र सरकार ने पिछले साल जम्मू एवं कश्मीर से अनुच्छेद-370 व धारा 35-ए को हटाकर कश्मीर से कन्याकुमारी तक अखंड भारत के हमारे महापुरुषों के सपने पूरा करने का काम किया है। इसी तरह, तीन तलाक पर प्रतिबन्ध लगाने से हमारी मुस्लिम बहनों के जीवन में एक नये बदलाव की शुरुआत हुई है और अब वे सामाजिक तौर पर सम्मानजनक व सुरक्षित जीवनयापन कर पाएंगी। शिक्षा को व्यावहारिक और रोजगार उन्मुखी बनाने के लिए केन्द्र सरकार ने नई शिक्षा नीति लागू की है। इससे ‘आत्मनिर्भर भारत’ अभियान को और गति मिलेगी। इसी तरह प्रधानमंत्री जी ने हाल ही में अयोध्या में भगवान श्री राम के भव्य मंदिर की आधारशिला रखकर करोड़ों देशवासियों की आस्था को मजबूती देने का काम किया है।
 उन्होंने कहा कि हम अपने शहीदों के बलिदानों का कर्ज तो नहीं चुका सकते, लेकिन उनके परिजनों को कुछ सुविधाएं देकर उनके प्रति अपनी कृतज्ञता अवश्य दिखा सकते हैं। राज्य सरकार द्वारा स्वतंत्रता सेनानियों व उनकी विधवाओं को 25 हजार रुपये मासिक पेंशन दी जाती है। राज्य सरकार ने वीरगति को प्राप्त होने वाले सैनिकों के परिवारों को दी जाने वाली एक्स-ग्रेेसिया ग्रांट 20 लाख रुपये से बढ़ाकर 50 लाख रुपये की है। भूतपूर्व सैनिकों और उनकी विधवाओं को दी जाने वाली विभिन्न प्रकार की पेंशनों में बढ़ोतरी की गई है। वीरगति को प्राप्त होने वाले हरियाणा के शहीदों के 320 आश्रितों को सरकारी नौकरियां दी गई हैं। वर्तमान सरकार ने न केवल शहीदों, स्वतंत्रता सेनानियों और देश की सीमाओं की रक्षा करने वाले वीर जवानों का मान बढ़ाया है बल्कि खेत में दिन-रात पसीना बहाकर पूरे देश का पेट भरने वाले अन्नदाता किसान की मेहनत का भी पूरा सम्मान किया है। मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना के तहत 1.80 लाख रुपये वार्षिक आय या 5 एकड़ तक भूमि जोत वाले परिवारों को 6 हजार रुपये की वार्षिक वित्तीय सहायता दी जा रही है।
  श्री ओम प्रकाश यादव ने कहा कि सरकार द्वारा लोगों को भ्रष्टाचार-मुक्त व बाधा-रहित सेवाएं प्रदान करने के लिए ‘परिवार पहचान पत्र’ कार्यक्रम शुरू किया गया है। सभी तहसीलों व उप-तहसीलों में पारदर्शी सेवाएं सुनिश्चित करने के उद्देश्य से ई-रजिस्ट्रेशन और ई-स्टाम्प प्रणाली शुरू की गई है। प्रदेश में 115 अंत्योदय एवं सरल केन्द्रों और 6,000 से अधिक अटल सेवा केंद्रों के माध्यम से 39 विभागों की 542 योजनाएं और सेवाएं एक क्लिक पर ऑनलाइन प्राप्त की जा सकती हैं। उन्होंने कहा कि राज्य की 127 तहसीलों व उप-तहसीलों में वैब-हैलरिस के नाम से क्लाउड आधारित समेकित सम्पत्ति पंजीकरण एवं भू-अभिलेख प्रबंधन प्रणाली लागू की गई है।
उन्होंने कहा कि हरियाणा में देश की पहली अन्तर-जिला परिषद् का गठन किया गया है। स्मार्ट गांव बनाने के लिए हरियाणा स्मार्ट ग्राम प्राधिकरण का गठन किया गया है। दस हजार तक की आबादी वाले गांवों के लिए ‘दीनबन्धु हरियाणा ग्राम उदय योजना’ तथा इससे अधिक आबादी वाले गांवों के सर्वांगीण विकास के लिए ‘महाग्राम विकास योजना’ बनाई गई है।
सरकार ने नगर-निगमों की तर्ज पर नगर पालिकाओं और नगर परिषदों में भी अध्यक्ष पद के सीधे चुनाव करवाने का निर्णय लिया है। ‘म्हारा गांव-जगमग गांव’ योजना के तहत 10 जिलों के सभी गांवों में 24 घंटे बिजली आपूर्ति की जा रही है। इसके साथ ही प्रदेश में 4600 से अधिक गाँव ऐसे हो गए हैं जिनमें 24 घंटे बिजली आपूर्ति की जा रही है। कृषि उपभोक्ताओं को बिल जुर्माना माफी योजना के तहत बकाया बिल राशि एकमुश्त जमा करवाने पर सरचार्ज राशि में शत-प्रतिशत की छूट दी गयी है। इसी तरह, दिसंबर, 2018 तक आवेदन कर चुके आवेदकों को फाईव स्टार रेटिड ऊर्जा दक्ष मोटर के साथ ट्यूबवेल कनेक्शन दिए जा रहे हैं। अब तक 4500 से अधिक किसानों को ट्यूबवेल कनेक्शन दिए जा चुके हैं।
राज्य मंत्री ने कहा कि सरकारी कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के लिए ’सीमित कैशलेस चिकित्सा सेवाएं’ योजना शुरू की गई है। हाल ही में ‘‘महिला एवं किशोरी सम्मान योजना’’ और ‘‘मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना’’ शुरू की गई हैं। ये दोनों योजनाएं गरीब परिवारों के बच्चों और महिलाओं में कुपोषण खत्म करने और उन्हें बीमारियों से बचाने में कारगर साबित होंगी।  ‘महिला एवं किशोरी सम्मान योजना’ के तहत लगभग 22.50 लाख महिलाओं और किशोरियों को एक साल तक हर महीने मुफ्त सैनिटरी नैपकिन का एक पैकेट दिया जाएगा, जिसमें 6 नैपकिन होंगे। इसके अलावा, शिक्षा विभाग ने भी एक योजना तैयार की है जिसके तहत 6.50 लाख छात्राओं को हर महीने छ: सैनिटरी नैपकिन उपलब्ध कराए जाएंगे।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के ओजस्वी नेतृत्व में राज्य सरकार ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय के दर्शन के अनुरूप ‘सबका साथ-सबका विकास’ और ‘हरियाणा एक-हरियाणवी एक’ के मूलमंत्र पर चलते हुए पूरे हरियाणा और प्रत्येक हरियाणवी के विकास का बीड़ा उठाया है। वर्तमान राज्य सरकार ने पिछले लगभग पौने छ: सालों में जातिवाद, क्षेत्रवाद और भाई-भतीजावाद से ऊपर उठकर काम किया है। भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाते हुए पारदर्शी शासन दिया है। किसान-मजदूर के कल्याण, युवाओं के उत्थान और महिलाओं के सम्मान के लिए नई-नई योजनाएं शुरू की हैं।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का सपना है कि वर्ष 2022 तक हर परिवार के पास अपना घर हो। उनके इस सपने को हकीकत में बदलने की दिशा में राज्य सरकार ने कई ठोस कदम उठाए हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत अब तक 56 हजार 400 से अधिक मकान और 19 हजार 600 से अधिक फ्लैट्स बनाए गए हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना ‘‘मिशन सभी के लिए घर 2022‘‘ के तहत शहरी गरीबों के लिए आवासीय ऋणों पर ब्याज दरों में 6.5 प्रतिशत रियायत दी जा रही है।
परेड इंचार्ज डीएसपी राजेश लोहान के नेतृत्व में हरियाणा पुलिस, महिला पुलिस व होम गार्ड की टुकडिय़ों ने मार्च पास्ट का प्रदर्शन किया। हरियाणा पुलिस की टुकड़ी का नेतृत्व पी.एस.आई. सचिव, महिला पुलिस पी.एस.आई. अर्चना व होम गार्ड का नेतृत्व एस.आई. सुधीर ने किया।  इस अवसर पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री ओम प्रकाश यादव ने कोरोना योद्घाओं व उत्कृष्ठï कार्य करने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों को सम्मानित भी किया। मंच का संचालन साहित्यकार सत्यवीर नाहडिय़ा द्वारा किया गया।
इससे पहले सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री ओम प्रकाश यादव ने राव तुलाराम स्टेडियम परिसर में पौधारोपण भी किया तथा बावल रोड स्थित युद्घ स्मारक पर पुष्पचक्र चढ़ाकर शहीदों को नमन किया।
जिला के उपमंडल कोसली में एसडीएम कुशल कटारिया व उपमंडल बावल में एसडीएम मनोज कुमार ने उपमंडल स्तरीय समारोह में ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली। वहीं उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने भी उपायुक्त कैम्प कार्यालय में झण्डा फहराकर सलामी ली। इस अवसर पर विधायक कोसली लक्ष्मन सिंह यादव, पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह यादव, जिला प्रमुख शशि बाला, सफाई कर्मचारी आयोग के उपाध्यक्ष कृष्ण कुमार, अजीत कलमाड़ी, सुनील यादव, आईजी दक्षिण रेंज विकास अरोड़ा, उपायुक्त यशेन्द्र सिंह, एसपी नाजनीन भसीन, जिला सत्र एवं न्यायधीश दिनेश मित्तल, एडीजे लदीप, सीजेएम कपिल राठी, अतिरिक्त उपायुक्त राहुल हुड्डï सचिव जिला सैनिक बोर्ड सेवानिवृत कर्नल सरिता यादव सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी व गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे।
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें