expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Pakur News: अमड़ापाड़ा सीएचसी में पारा चिकित्साकर्मी संघ के बैनर तले पारा चिकित्सा कर्मियों द्वारा सांकेतिक हड़ताल किया गया।

ग्राम समाचार, पाकुड़। अमड़ापाड़ा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भवन में मंगलवार को झारखंड अनुबंधित पारा चिकित्साकर्मी संघ के बैनर तले पारा चिकित्सा कर्मियों द्वारा सांकेतिक हड़ताल किया गया।  इस दौरान प्रखंड क्षेत्र में कार्यरत अनुबंध पारा चिकित्सा कर्मचारियों ने सीएचसी भवन के परिसर में हड़ताल पर बैठ गए। उपस्थित डॉ. नसीम अहमद, डॉ. प्रमोद भगत, लेब टेक्नीशियन ऋषिकांत ऋषि, मार्कोस हेम्ब्रम, जितेंद्र कुमार, मीना किरण मुर्मू, रेणु सिन्हा, ममता सिन्हा, मारिया मरांडी, हेलेना हेम्ब्रम, सबिता हेम्ब्रम, नीरू नीलम हांसदा आदि ने बताया कि हमसब चार अगस्त को सांकेतिक हड़ताल पर रहेंगे. हमसब जिस तरह कोरोना महामारी के इस दौर में आयुष चिकित्सक, पारा चिकित्सा कर्मी, एएनएम, जीएनएम, लैब टेक्नीशियन आदि अपनी जान जोखिम में डालकर सेवा प्रदान कर रहे हैं. उसकी तुलना में राज्य सरकार हमलोगों लोगों को सम्मान नहीं दे रही हैं। पारा चिकित्सा कर्मियों से अल्पवेतन में काम कराया जा रहा हैं. सेवा नियमित करने के आश्वासन के बाद भी राज्य सरकार उनके प्रति कोई सकारात्मक पहल नहीं कर रही हैं। इन्हीं कारणों से झारखंड अनुबंधित पारा चिकित्सा कर्मी संघ के बैनर तले चार अगस्त को सांकेतिक रूप से हड़ताल पर रहेंगे। वहीं चार अगस्त को सरकार द्वारा कोई विचार नहीं किया गया तो पांच अगस्त से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया गया हैं।  

क्या है मांग

संघ की मांगों में स्वास्थ्य विभाग के विभिन्न संभागों में अनुबंध पर कार्यरत सभी पारा चिकित्सा कर्मियों का सीधा  नियमितिकरण करना, निबंधन या नवीनीकरण से वंचित स्वास्थ्य विभाग में अनुबंध पर कार्यरत कर्मियों को एक बार नियम शिथिल कर नवीनीकरण करने, राज्य में आइपीएच नियमानुसार सभी सीएचसी, पीएचसी में एएनएम व लैब तकनीशियन का स्वीकृत पद पर समायोजन करने, अन्य राज्यों के तर्ज पर कोविड कार्य का अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि तथा समायोजन की प्रक्रिया होने तक समान कार्य का समान वेतन लागू करने,अनुबंधकर्मियों की आकस्मिक मृत्यु पर आश्रित को जीवन बीमा का लाभ देने आदि मांग शामिल है।

Share on Google Plus

Editor - रंजीत भगत, पाकुड़

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें