expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : महाशिवरात्रि आज चार महीने बाद शर्तों के साथ एक दिन के लिए खुले मंदिर. श्रद्धालुओं ने सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए मंदिर में पहुंचकर जल चढ़ाया.

सावन मास की महाशिवरात्रि पर मंदिर में पूजा करते श्रद्धालु. 

ग्राम समाचार न्यूज : रेवाड़ी : आज सावन मास की महाशिवरात्रि का पर्व है. शिवरात्रि पर्व पूरे देश में मनाया जा रहा है. हालांकि इस बार महाशिवरात्रि पर कोरोना वायरस महामारी का असर देखा जा रहा है. जिस कारण मंदिरों में बहुत कम भीड़ देखी जा रही है. रेवाड़ी में लॉक डाउन में चार माह से बंद मंदिरों के कपाट आज एक दिन के लिए शर्तों के साथ खुले. श्रद्धालुओं ने भी सोशल डिस्टेंस समेत तमाम शर्तों के साथ मंदिरों में पहुंचकर बाबा भोले नाथ का जलाभिषेक किया और पूजा अर्चना की. मंदिर में व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस भी तैनात की गई है. रेवाड़ी के श्री घंटे स्वर महादेव मंदिर, श्री भूततेस्वर बारा पत्थर मंदिर समेत सभी छोटे बड़े मंदिरों में भक्तों का तांता लगा रहा. भक्त लाइन में खड़े होकर अपनी बारी की प्रतीक्षा करते नजर आए. रेवाड़ी जिला प्रशासन द्वारा महा शिवरात्रि के पावन पर्व पर एक दिन के लिए एसओपी का पालन करते हुए मन्दिरों को खोलने की छूट मिली. मास्क पहनकर श्रद्धालुओं को मंदिर में आने की अनुमती दी गई है. वहीं मंदिर में पूजा अर्चना कर श्रद्धालु भी काफी खुश नजर आए. लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण के चलते यात्रा पर रोक लगाई हुई थी जिस कारण सावन मास की महाशिवरात्रि पर हरिद्वार और गौमुख से से गंगाजल लेकर आने वाले शिव भक्त कावडीये नजर नहीं आए. 

महाशिवरात्रि पर रविवार को प्रात: 5 बजे से लेकर देर रात्रि 10 बजे तक मन्दिरों को खोलने की छूट प्रदान की गई है। मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं को भीड़ एकत्रित करने की अनुमति नहीं होगी। श्रद्धालु एक-एक करके दो गज की दूरी के साथ पूजा करें।  श्रद्धालुओं को प्रसाद व लंगर बांटने की अनुमति भी नहीं मिलेगी और न ही पवित्र जल बांटने व छिडकने की अनुमति होगी। पूजा स्थल या मंदिर प्रबंधन समिति द्वारा मंदिर परिसर को समय-समय पर सैनिटाइज कराना होगा। सभी पूजा स्थल या मंदिर प्रबंधन समिति को कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सरकार द्वारा चार जून 2020 को धार्मिक संस्थानों के लिए जारी की गई एसओपी की पालना करनी होगी। मंदिर प्रबंधन समिति को सलाह दी जाती है कि मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं को टोकन देने की व्यवस्था बनाए ताकि पांच से अधिक श्रद्धालु  एक साथ प्रार्थना के लिए मन्दिर में प्रवेश ना कर सकें. जिलाधीश ने कहा कि मंदिर परिसर में दो गज की दूरी बनाएं रखना और फेस मास्क पहनना जरूरी है। आमजन से अपील की है कि वे इस दौरान दो गज की दूरी बनाए रखें और मास्क लगाकर रखें ताकि करोना महामारी से बचाव हो सके।
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें