expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : CBSE के 12th क्लास के रिजल्ट में 91% नम्बर आने पर हताश हुई जया

गाँव कंवाली निवासी सीबीएसई की छात्रा जया. 

ग्राम समाचार न्यूज : रेवाड़ी : CBSE का 12वी क्लास का रिजल्ट आने की उत्सुकता में गांव कंवाली की जया ने अपना रिजल्ट देखा तो पाया कि उसके नम्बर 91% है जबकि वह बचपन से ख्वाब देख रही थी कि CBSE टॉप करेगी, हताश हुई जया को श्री बालाजी इंटेराशनल स्कूल डहीना की ज्यादत्ति की याद आई और वह बहुत ही दुखी हुई कि उसने जो स्वपन देखे थे कि वह जीवन मे ऊंचाइयों को हासिल करेगी परन्तु निजी स्कूल ने उसकी सारी उम्मीदों पर पानी फेर दिया, छात्रा ने बताया कि एग्जाम से 3 महीने पहले स्कूल में अमान्य मदो की फीस जमा न करने के कारण स्कूल ने उसको शिक्षा से वंचित कर दिया था, उसके रोल नम्बर तक रोक लिए थे ओर रोल नम्बर देने से मना कर दिया था कहा था कि हम तुम्हारे भविष्य को खराब कर देंगे अगर ये फीस जमा नहीं करोगे तो पेपर से दो दिन पहले तक वह रोल नम्बर के लिये भाग दौड़ कर रही थी हार कर उसने आस छोड़ दी थी कि उसको रोल नम्बर मिलेंगे भी या नही परन्तु उसने समाचार पत्रों में देखा कि कोर्ट के माध्यम से यूरो स्कूल की किसी बच्ची को रोल नम्बर प्राप्त हुए हैं उसने तहकीकात की तो पता चला कि कैलाश चंद एड्वोकेट के सहयोग से रोल नम्बर मिले उसने किसी के माध्यम से अधिवक्ता के नम्बर लिए ओर बात की उसके बात अधिवक्ता के सहयोग से जया को भी रोल नम्बर प्राप्त हुए और उसने अपने पेपर दिए अब जैसे ही उसने रिजल्ट देखा तो 91% नम्बर देख कर थोड़ी निराशा हुई कि अगर स्कूल उसको 3 महीने पहले शिक्षा से वंचित नही करता तो आज वो CBSE टॉप कर लेती ओर किसी अच्छी यूनिवर्सिटी में उसका नम्बर आता. हताश हुई जया ने प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, निदेशक CBSE, निदेशक हरियाणा शिक्षा विभाग, उपायुक्त रेवाड़ी व पुलिस अधीक्षक रेवाड़ी को पत्र भेजकर इंसाफ़ की मांग की है. 
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें