expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Pakur News: उपायुक्त कुलदीप चौधरी ने जिले वासियों की अपील, वज्रपात से बचाव को बरतें सावधानी, खुद को रखें महफुज


 
कुलदीप चौधरी, उपायुक्त पाकुड़ 
ग्राम समाचार पाकुड़, ब्यूरो रिपोर्ट:- राज्य में अगले कुछ दिनों में भारी वज्रपात की आशंका है। इसे देखते हुए राज्य आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा सभी जिलों को अलर्ट किया गया है।
इसी को देखते हुए शनिवार को उपायुक्त कुलदीप चौधरी ने कहा कि बारिश या मानसून में बिजली कड़कना या गिरना आम बात है। इससे बचने के लिए स्वयं की सावधानी बहुत जरुरी है। जिलावासी बारिश के समय व आसमान में आकाशीय बिजली के कड़कने के समय घरों के अंदर ही रहें। उन्होंने आम लोगों से अपील कि है कि वे घर से बाहर नहीं निकलनें। ज्यादा जरूरी हो तभी घर से बाहर निकलें। बाहर निकलते समय पूरी सावधानी बरतनी जरूरी है। फिलहाल लोगों को चाहिए कि जब भी बादल गरजना शुरू हों, सुरक्षित स्थानों से बाहर न निकलें और अगर कहीं फंस भी जाएं, तो लोगों को चाहिए कि बड़े पेड़ों की बजाय मकानों के नीचे खड़े हो जाएं, क्योंकि बिजली अधिकतर ऊंचे स्थानों या लंबे - ऊंचे पेड़ों पर ही गिरती है| इसलिए जब घर के भीतर हों - बिजली से संचालित उपकरण से दूर रहें। तार वाले टेलीफोन का उपयोग न करें। खिड़की, दरवाजा, बरामदा व छत से दूर रहें। ऐसी वस्तुएं जो बिजली की सुचालक हैं, उनसे दूर रहें। धातु से बने पाइप, नल, फव्वारा, वाशबेसिन के संपर्क से दूर रहें। कपड़े सुखाने के लिए तार का प्रयोग न कर, जूट या सूत की रस्सी का प्रयोग करें।
जब आप घर से बाहर हों - ऊंचे वृक्ष के नीचे न रहें। ऊंचे इमारत वाले क्षेत्र में आश्रय न लें। समूह में खड़े न रहें। पक्के मकान में आश्रय लेना बेहतर है। सफर के दौरान अपने वाहन में ही बने रहें, मजबूत छत वाले वाहन में रहें, खूली छत वाले वाहन में सवारी न करें। बाहर रहने पर धातु से बनी वस्तुओं का उपयोग न करें। बाइक, बिजली या टेलीफोन के खंभे - तार की बाड़, मशीन से दूर रहें। तालाब व जलाशयों से दूर रहें। यदि आप पानी के भीतर हैं या किसी नाव में हैं, तो तुरंत बाहर आ जाएं। बारिश में धातु के डंडे वाले छाते का प्रयोग न करें।
जब आप खेत - खलिहान में हों - गीले खेतों में काम कर रहे हैं तो सूखी जगह पर जाएं। धातु से बने कृषि यंत्र से दूर रहें। पैरों के नीचे सूखी चीजें जैसे लकड़ी, प्लास्टिक, बोरा या सूखे पत्ते रख लें। वज्रपात का झटका लगने पर कृत्रिम श्वास देना बेहतर होता है। तुरंत चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराए|
आर. के. पाण्डेय, ग्राम समाचार पाकुड़ 
Share on Google Plus

Editor - भुपेन्द्र कुमार चौबे

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें