expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Dumka News : मोहल्ला क्लास बना मजाक, सूदूरवर्ती गांव के बच्चे बैल चराने को विवश

ग्राम समाचार,दुमका। लकडाउन में विद्यालय बंद  हैं ,छात्र छात्राओं की पठन  पाठन को ध्यान में रख कर यहा उत्कृमित उच्च विद्यालय कुमीरदहा एवं बोराडांगाल में कई दिन पारा शिक्षकों के भरोसे मोहल्ला क्लास चलाया गया हैं, इसलिये कि यहां के पदस्थापित सभी सरकारी शिक्षक बीरभूम जिला के सिउड़ी में रहते हैं, और वही से आनाजाना कर ड्यूटी करता है। लक डाउन में सिउड़ी निबासी शिक्षक का यहां आना फिलहाल बंद है। प्रखंड मुख्यालय संलग्न दोनों विद्यालय  में मोहल्ला क्लास संचालन को लेकर उत्कृमित प्राथमिक विद्यालय खोटँगी के पारा शिक्षक बबलू पांडेय ने बताया है कि छात्र हित मे मोहल्ला क्लास दूर दराज के अभिवंचित गांवों में आयोजित करना चाहिये। श्री पांडेय ने बताया है कि उस दोनों उत्कृमित उच्च विद्यालय के अधिकांश छात्र छात्राओं की स्मार्ट फोन है, उन विद्यालय के छात्रों को ऑन लाईन क्लास से जोड़ा जा सकता है ।रांगालिया पंचायत के पाथरचाल गांव के प्राथमिक विद्यालय को बंद कर दूर के पलासपाड़ा के विद्यालय के साथ विलय कर दिया गया हैं।पर पाथरचाल गांव के छात्र उस विद्यालय नहीं जाता है।मंगलवार को गांव के बच्चों को माझी थान में खेलते देखा गया हैं।यहा के तीस बच्चों का पलासपाड़ा के विद्यालय में नामांक कर दिया है, पर छात्र उस विद्यालय में पड़ने नही जाता हैं । गांव के प्रधान जबा हेम्ब्रम ने बतायी हैं कि शिक्षा विभाग के अधिकारी ने तीस साल के पुराना बिद्यालय को दूर के विद्यालय के साथ विलय कर गांव के छात्रों को उस विद्यालय में नामांकित कर दिया हैं। पर दुर्गम पथ के उस बिद्यालय में यहा के बच्चे पड़ने नहीं जाता हैं। ग्रामीण दत्त मुर्मू ने बताया हैं कि पाथरचाल के संलग्न गांव जयपाहाड़ी में उत्कृमित मध्य विद्यालय है। उस विद्यालय में गांव के बच्चों का नामांक कराने से बच्चे गाय चराने बिबश नही होता , लोगो के अनुसार मोहल्ला क्लास उस गांव में होना चाहिये।यहा मोहल्ला क्लास महज समाचार पत्र में फ़ोटो के साथ खबर प्रकाश में सिमट कर रह गया हैं।इस संबंध में प्रतिक्रिया जानने पर प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी राजीव रंजन चुप्पी साध लिया।
गौतम चटर्जी, ग्राम समाचार,रानीश्वर(दुमका)
Share on Google Plus

Editor - केसरीनाथ यादव, दुमका

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें