expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Bhagalpur News:कोरोना से मृत लोगों के बच्चों को मिलेगी निःशुल्क तकनीकी व प्रोफेशनल शिक्षा – डॉ. सामंत

ग्राम समाचार, भागलपुर। कीट विश्विद्यालय व आर्ट ऑफ गिविंग के संस्थापक अच्युत सामंत ने कोरोना से मृत लोगों  के संतानों के लिए घोषणा किया है कि कोरोना से मृत व्यक्तियों के बच्चे जो तकनीकी व पेशेवर  शिक्षा के लिए योग्यता रखते हों उसके लिए 2 वर्ष (सत्र 2020-21व 2021 - 22) तक निःशुल्क नामांकन व पढ़ाई की व्यवस्था की जाएगी। बिहार के तकरीबन 30 फीसदी छात्र-छात्रा कीट विश्वविद्यालय से तकनीकी व पेशेवर शिक्षा हर वर्ष प्राप्त करते हैं। इस महामारी के समय बिहार के ऐसे कोरोना से मृत माता - पिता के पुत्र - पुत्री जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं और तकनीकी या पेशेवर शिक्षा में प्रवेश चाहते हैं, उनके लिए यह सुनहरा अवसर है। कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के बीच श्री सामंत द्वारा ऐसा सामाजिक व शैक्षणिक कार्य पूरे समाज के लिए उनकी तरफ से एक बहुत बड़ा योगदान है। जिससे पूरा भारतीय जनमानस उनके लिए कृतज्ञ रहेगा। ज्ञात हो कि इनके फाउंडेशन द्वारा 4 कोविड हॉस्पिटल पहले से उड़ीसा में चलाया जा रहा है और कोरोना योद्धा एवं सड़क पर विचरने वाले मवेशी को हरा चारा व भोजन की व्यवस्था विगत कई दिनों से दिया जा रहा है। केआईएमएस द्वारा तकरीबन 60000 आदिवासी छात्रों को निःशुल्क पढ़ाई, भोजन व रहने की व्यवस्था करके यह संस्था विश्वकीर्तिमान पहले ही स्थापित कर चुका है। केआईआईटी विश्वविद्यालय से सम्बद्ध एवं आर्ट ऑफ गिविंग के बिहार संयोजक नीलकमल राय ने बताया कि बिहार के भी मृत कोरोना योद्धा के बच्चे इस अवसर का लाभ उठा सकते हैं। नीलकमल राय ने बताया कि जो भी ऐसे छात्र हैं जो मृत कोरोना योद्धा के संतान हैं और तकनीकी शिक्षा में योग्यता रखते हैं। विमर्श नंबर 7250746151 पर संपर्क कर सकते हैं।
Share on Google Plus

Editor - Bijay shankar

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें