expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Bhagalpur News:अभिनव शिक्षा शास्त्र, प्रभावी रणनीतियां एवं वर्त्तमान परिदृश्य में कृषि व्यवसाय के अवसर विषयक वेबिनार आयोजित

ग्राम समाचार, भागलपुर। बिहार कृषि विश्वविद्यालय सबौर के द्वारा लॉकडाउन के दौरान आयोजित की जा रही वेबिनार की श्रृंखला में आज बुधवार को 15वीं वेबिनार का आयोजन किया गया। यह वेबिनार वर्त्तमान समय में सबसे ज्यादा प्रभावित विषय पर आयोजित की गई। आज के इस कठिन दौर में सबसे ज्यादा प्रभावित और अस्त-व्यस्त शिक्षा हुई-चाहे वह स्कूली शिक्षा हो या उच्च शिक्षा। शैक्षणिक संस्थानों का दुर्गम स्थानों पर अवस्थित बच्चों तक पहुंचना बहुत ही कठिन कार्य है और माध्यम सिर्फ और सिर्फ इंटरनेट द्वारा ई-शिक्षा की व्यवस्था है। आज के आधुनिक दौर में यह कहना जितना आसान है, करना उतना ही मुश्किल और इसका शिक्षक एवं विद्यार्थी के उपर व्यापक मानसिक प्रतिकूल प्रभाव हो रहा। आने वाले समय में ई-शिक्षा का प्रभाव नौकरी पर कैसे पड़ेगा, ये जानना भी अति-आवश्यक है। इन्हीं विषयों पर केन्द्रित था आज का वेबिनार ’’अभिनव शिक्षा शास्त्र, प्रभावी रणनीतियां एवं वर्त्तमान परिदृश्य में कृषि व्यवसाय के अवसर’’। कार्यक्रम की अध्यक्षता कुलपति डॉ. अजय कुमार सिंह ने की और संयोजक अअधिष्ठात कृषि डॉ. रेवती रमण सिंह एवं निदेशक प्रसार शिक्षा डॉ. आर.के. सोहाने थे। कार्यक्रम में कुल पांच वक्ताओं में डॉ बी. कुमार भूतपूर्व अधिष्ठाता (स्नातकोत्तर), डॉ. संदीप कुमार (बीएचयू), डॉ विश्वबंधु पटेल (आईएआरआई) एवं डॉ सुदर्शन दत्ता वैज्ञानिक एपीएनआई मोरक्को शामिल थे। डॉ. पाण्डेय ने कृषि शिक्षा में नये प्रयोग, वर्त्तमान समय एवं परिवेश में आईसीएआर किस प्रकार बच्चों एवं वैज्ञानिकों तक पहॅुंच रही, इस विषय पर प्रकाश डाला। डॉ. बी. कुमार ने शिक्षकों और बच्चों को ई-शिक्षा कैसे करानी और करनी चाहिए, इसके तौर-तरीके बताए। डॉ. पटेल ने वर्त्तमान समय में उच्च शिक्षा पर अपने विचार प्रकट किए। आखिरी वक्ता डॉ. सुदर्शन दत्ता थे, जिन्होने कृषि व्यवसाय कैसे प्रभावित हुई है और इसकी संभावनाओं एवं इससे कैसे उबरा जाय इनसे सभी प्रतिभागियों को अवगत कराया जाए। पूरे कार्यक्रम में 200 से ज्यादा प्रतिभागी शामिल हुए। इस कार्यक्रम का आयोजन डॉ. रूबी रानी, डॉ. श्वेता शांभावी एवं डॉ. राजीव रक्षित ने किया.।

Share on Google Plus

Editor - Bijay shankar

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें