Pakur News: जिला कोंग्रेसी कार्यकर्ताओ ने हूल दिवस पारंपरिक तरीके से मनाया

ग्राम समाचार, पाकुड़। पाकुड़ जिला कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को हूल दिवस पारंपरिक तरीके से मनाया।सभी कार्यकर्ता नगर के सिदो कान्हु मुर्मू पार्क में एकत्रित हुए तथा नायकों को याद करते हुए उनकी प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किये। जिला अध्यक्ष श्री उदय लखमानी ने कहा कि संथाल हुल के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि संताल परगना और जनजातीय समाज के सर्वांगीण विकास में निहित है सिदो-कान्हू झारखंड के भोले भाले लोगों के लिए प्ररेणा स्त्रोत है।हमें उनके आदर्शों पर चलने की आवश्यकता है। इन सपूतों ने उलगुलान और विद्रोह किए, लेकिन जिन मकसद को लेकर इन वीर सपूतों ने विद्रोह किया उसके मकसद पीछे छूटते रहे हैं। इसलिए हूल प्रासंगिक है और इन्हें साकार करने की जिम्मेदारी महत्वपूर्ण है। महागामा पूर्व विधायक व प्रभारी राजेश रंजन अपना उदगार व्यक्त करते हुए कहा कि हूल दिवस संताल हूल संभवत: विश्व की प्रथम सशस्त्र क्रांति थी। अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ सिदो-कान्हू व चांद-भैरव ने क्रांति का बिगुल फूंका था। जल, जमीन और जंगल की रक्षा एवं महाजनी शोषण के विरोध में उलगुलान हुआ था। 30 जून को विद्रोह की शुरुआत हुई थी। इसलिए हर वर्ष इस तिथि को हूल दिवस के रूप में मनाया जाता है। अबुआ राज का नारा क्रांतिकारियों ने दिया था। इस अवसर पर हिमांशु शेखर झा,जिला उपाध्यक्ष प्रमोद डोकनिया,जिला प्रवक्ता मुख्तार हुसैन,कोषाध्यक्ष असद हुसैन,असलम अंसारी,जिला सचिव कृष्णा यादव,वरिष्ठ कांग्रेसी फारुख आलम, जिला सोशल मीडिया कोऑर्डिनेटर नलिन मिश्रा,पूर्व सोशल मीडिया प्रभारी संतु चौधरी, साहीन परवेज, बिलाल शेख,सहबाज़ आलम, एनएसयूआई जिलाध्यक्ष सज्जाद मेहना,एनएसयूआई जिला उपाध्यक्ष अभिषेक रंजन,महाविद्यालय कार्यकारी अध्यक्ष अभिषेक सिंह, अब्धेश झा, सद्दाम हुसैन,कल्पना सिंह,आसफा बेवा, कारणों राजवंशी,आबिद अंसारी सहित अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।

ग्राम समाचार, बिक्की भगत पाकुड़।


Share on Google Plus

Editor - रंजीत भगत, पाकुड़

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें